लोहा कारोबारी को बंधक बनाकर फिरौती मंगवाने वाला निकला करीबी दोस्त !

लोहा कारोबारी को बंधक बनाकर फिरौती मंगवाने वाला निकला करीबी दोस्त !
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

गोविंदपुरा इलाके में लोहा कारोबारी को पिस्टल की नोंक पर अगवा करने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। घटना का साजिशकर्ता, फरियादी का करीबी दोस्त हे। जिससे उसकी अनबन हो गई थी। साजिशकर्ता ने अपने परिचित बदमाशों को सिर्फ धमकाने के लिए भेजा था। जिन्होनें कट्टा अड़ाकर  धमकाने के साथ-साथ फरियादी से 30 लाख रूपए की फिरौती मांग ली। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कमिश्नर मकरंद देउस्कर ने 25 हजार रूपए का ईनाम घोषित किया था। जोकि अब यह इनाम राशि पुलिस टीम को बांटी जाएगी।

पुलिस के अनुसार पदमनाभ नगर, ऐशबाग निवासी अंकुर मित्तल इंडस्ट्रीयल एरिया में लोहे का सरिया व चादरें बेचने का थोक कारोबार करते हैं। मंगलवार की सुबह दो बदमाशों ने उन्हें पिस्टल की नोंक पर अगवा कर लिया था। इतना ही नहीं आरोपी फिरौती के नाम पर 45 लाख रुपए की डिमांड कर रहे थे। बाद में सौदा 30 लाख रुपए तय होने पर आरोपियों ने पैसों का इंतजाम करने के लिए छोड़ दिया था। एडीसीपी जोन-2 राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि फिरौती मांगने वाले बदमाश अब्बास और समीर को गिरफ्तार किया गया। जिन्होंने पूछताछ में कबूला कि फरियादी अंकुर के करीबी दोस्त और पड़ोसी मनन कुमार ने उन्हें काम सौंपा था। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने मनन कुमार को गिरफ्तार कर लिया। जिसने बताया कि उसकी अंकुर से किसी बात को लेकर अनबन चल रही थी। ऐसे में उसने अब्बास को सिर्फ अंकुर को धमकाने के लिए कहा था, लेकिन अब्बास और उसके साथी ने उसकी बगैर जानकारी के अंकुर से 30 लाख रूपए की फिरौती की मांगे। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

डीसीपी, एडीसीपी और एसीसी को प्रमाण पत्र 

पुलिस कमिश्नर ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम को 25 हजार रूपए का नगद इनाम के साा ही डीसीपी श्रद्धा तिवारी, एडीसीपी राजेश भदौरिया और एसीपी राकेश श्रीवास्तव इस सराहनीय कार्य के लिए प्रशंसा पत्र दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.