तरूण पाल सिंह भदौरिया को “द विजया राजे सिंधिया अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस” अवार्ड से नवाजा गया

तरूण पाल सिंह भदौरिया को “द विजया राजे सिंधिया अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस” अवार्ड  से नवाजा गया
Share on social media
mp03.in संवाददाता भोपाल 
 ग्वालियर के एएमआई शिशु मंदिर स्कूल ने पूर्व छात्र तरुण पाल सिंह भदौरिया (टीपीएस)को द विजयाराजे सिंधिया अवॉर्ड ऑफ एक्सीलेंस से नवाजा गया है।   स्कूल प्रबंधन ने यह घोषणा  स्थापना के 75वें हीरक जयंती वर्ष के मौके पर  स्वर्गीय विजयाराजे सिंधिया की जन्मशताब्दी समारोह के दौरान की। मप्र के परिवहन विभाग में सेवाएं दे रहे श्री भदौरिया आरटीआई के पद पर पदस्थ हैं। स्कूल प्रबंधन ने भदौरिया को संस्थान की दीगर गतिविधियों से निरंतर जुडे़ रहने को देखते हुए इस प्रतिष्ठित अवॉर्ड के लिए चुना है।
1988 से संस्थान से जुड़ाव 
 1988 में स्कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद से टीपीएस अभी तक लगातार स्कूल से जुड़ाव बनाए रखे हैं। वे विद्यालय के १०+२ शिक्षा प्रणाली के प्रथम बैच के छात्र रहते हुए सन 86  से 88 तक लगातार दो वर्ष निर्वाचित अध्यक्ष रहे। स्कूल से पास आउट होने के पश्चात भी उनका जुडाव निरंतर जारी है। वे वर्तमान में पूर्व छात्र संगठन के कार्यकारी अध्यक्ष रहते हुए विद्यालय की हरेक रचनात्मक गतिविधियों से जुड़े रहे हैं।
बाॅडी बिल्डिंग का शौक 
अवार्ड में उल्लेख किया है कि वह स्कूल समय में बॉडी बिल्डिंग के शौकीन रहे हैं। इसके अलावा ड्रामा, सिंगिंग और कल्चरल कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर स्कूल का नाम रोशन करते रहे हैं।
दो पहिया से लेह लद्दाख की सड़के नाप चुके हैं 
टीपीएस भदौरिया हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल ग्रुप के सक्रिय सदस्य हैं। पिछले वर्ष अपने इस साहसिक गतिविधियों के शौक के अन्तर्गत वो पहले हार्ले डेविडसन ग्रुप के सदस्य रहे जिन्होंने लेह लद्दाख/खारदुंगला टॉप को अपनी बाइक से नाप चुके हैं।
कई बार हो चुके विभाग से सम्मानित 

परिवहन

तरुण पाल सिंह भदौरिया

विभाग में शिवपुरी, भिंड, बड़वानी, झाबुआ व राजगढ़ जिले में पदस्थापना के दौरान रिकॉर्ड राजस्व वसूल करने पर अनेकानेक बार विभाग द्वारा सम्मानित किए गए। तरुण पाल सिंह भदौरिया सामाजिक कार्यों में विशेष रुचि रखते हैं। इनके द्वारा गरीब बच्चों की पढ़ाई  एवम् गरीब कन्याओं के विवाह कराने समेत अन्य सामाजिक कार्य में बढ़ चढ़ कर सहयोग किए जाते रहे हैं। अपने  इन्हीं कार्यों की वजह से प्रदेश में इनकी अलग ही पहचान स्थापित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *