फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाला नाइजीरियन बंटी और बबली चढ़े भोपाल सायबर क्राइम के हत्थे

फेसबुक पर दोस्ती कर ठगी करने वाला नाइजीरियन बंटी और बबली चढ़े भोपाल सायबर क्राइम के हत्थे
Share on social media
– शादीशुदा लोगो से फेसबुक के माध्यम से करते थे दोस्ती
– ब्रिटीश नागरिक बनकर फसाते थे, लोगों को
– यूके के नम्बरो का घटना में किया जाता था उपयोग
– महॅगे गिफ्ट भेजने के बहाने लोगों को फसाते थे
– फिर कस्टम अधिकारी बनकर उनसे रूपयो की करते थे उगाही
– आरोपी द्वारा अन्य राज्यों में भी लोगो को ठगा गया है
mp03.in संवाददाता भोपाल
राजधानी की एक महिला से फेसबुक पर दोस्ती कर मंहगे गिफ्ट भेजने के नाम पर 3 लाख 5 हजार रूपए का चूना लगाने वाले नाइजीरियन बंटी और बबली को भोपाल सायबर क्राइम टीम ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के खिलाफ 56/20 धारा 419,420,201 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
एडीजी उपेंद्र जैन के अनुसार 07 अगस्त को आवेदिका (छदम नाम) नेहा राजपूत निवासी भोपाल द्वारा आवेदन पत्र प्रस्तुत कर बताया गया था कि अज्ञात दो व्यक्ति द्वारा ब्रिटिश नागरिक बताकर अपनी एक महिला साथी के माध्यम से फेसबुक पर दोस्ती की गई थी। आरोपियों द्वारा महंगे  गिफ्ट पार्सल भेजने के बहाने कस्टम ऑफिसर बनकर डिलेवरी चार्ज, पेनाल्टी चार्ज, मनी लांण्डरिंग फीस के नाम पर उसके साथ 3 लाख 5 हजार रूपये/- की धोखाधडी की गयी है। आवेदन पत्र की जांच के दौरान थाना क्राईम ब्रांच भोपाल में अज्ञात आरोपियों के विरूध अपराध दर्ज किया गया।  विवेचना के दौरान प्रकरण में आरोपी ऑगस्टिन उडेक्वे और  लाल्हमुन्सियामी के नाम उजागर हुए। जिन्हें सायबर की टीम द्वारा उत्तम नगर नई दिल्ली के महावीर इन्कलेव पार्ट-2 से  गिरफ्तार किया गया।
आरोपियों की जानकारी व  भूमिका
1. ऑगस्टिन उडेक्वेपेटर 28 प्राईमरी उत्तम नगर पश्चिम दिल्ली महिलाओ से दोस्ती करना।
 2. लाल्हमुन्सियामी लालरामछना  27 मीडिल उत्तम नगर पश्चिम दिल्ली कस्टम अधिकारी बनकर रूपये प्राप्त करना।
वारदात का तरीका 
 आरोपी टीम के सदस्य विदेशी नागरिक बनकर महिलाओं/पुरूषों से सोशल नेटवर्किंग साईट्स जैसे फेसबुक, वाट्सअप के माध्यम से महिलाओं से गहरी दोस्ती करते हैं, तथा उन्हें अपने पूर्ण विश्वास मे लेकर महिला/पुरूषों को यह विश्वास दिलाते हैं, कि वह उन्हें किमती गिफ्त/बडी रकम पार्सल के माध्यम से भेज रहा है, तदउपरांत टीम का दूसरा सदस्य महिला/पुरूष को वाट्सअप/फोन कॉल कर यह बताता है, कि वह कस्टम अधिकारी है। जिसने एयरपोर्ट पर महॅंगा गिफ्ट/पार्सल पकड लिया है, तथा महिला से डिलेवरी चार्ज, एंटी मनी लांण्डरिंग सर्टीफिकेट, एंटी टेरेरिज्म सर्टीफिकेट, पेंनल्टी फीस, आदि के नाम पर विभिन्न बैंक खातों में रूपये जमा करा लेते है। इस दौरान फर्जी कस्टम अधिकारी महिला/पुरूष को यह कहकर डराता है, कि यदि उसने उक्त राशी जमा नही कि तो पार्सल भेजने व प्राप्त करने वाले व्यक्ति को एंटी मनी लांण्डरिंग एक्ट/एंटी  टेरेरिज्म एक्ट में जेल जाना पडेगा। इस प्रकार वह तब तक महिला/पुरूष से अलग-अलग तरीको से रूपये की मॉग करते है। जब तक कि महिला/पुरूष रूपये देना बन्द नही करते आरोपीगण पहले से ही संपन्न दिखने वाली महिलाओं/पुरूषों को टारगेट करते है।
आरोपियो से जब्त सामग्री 
1  लेपटॉप,5  मोबाईल फोन,1 हार्ड डिस्क, 2 सिम कार्ड, 3 खाली मोबाईल बॉक्स, आरोपी का मूल पासपोर्ट।
आरोपियों शिकायत/एफ.आई.आर.की जानकारी  
–  साईबर क्राईम तुरुअनंतपुरम केरल 8,35,000/
–  एमएचबी पुलिस स्टेशन, मुम्बई 8,15,000/
–  स्टेट साईबर सेल, भोपाल1,65,500/

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *