8 लाख की ईनामी महिला नक्‍सली कमांडटर शारदा को मप्र पुलिस ने किया ढे़र !

8 लाख की ईनामी महिला नक्‍सली कमांडटर शारदा को मप्र पुलिस ने किया ढे़र !
Share on social media
  • हॉक फोर्स और बालाघाट की बैहर पुलिस ने दिखाया अदम्‍य साहस

mp03.in संवाददाता भोपाल 

मध्‍यप्रदेश पुलिस के नक्‍सल विरोधी अभियान के तहत बालाघाट पुलिस तथा हॉक फोर्स ने बैहर इलाके में शुक्रवार को  आठ लाख की ईनामी महिला नक्‍सली कमांडर शारदा उर्फ पुज्‍जे को मूठभेड़ के दौरान ढेर कर दिया।

एडीजी (नक्‍सल विरोधी अभियान) जी.पी.सिंह ने बताया कि एसपी बालाघाट को  मुखबिर से सूचना मिली कि थाना बैहर क्षेत्रांतर्गत ग्राम मालखेड़ी में करीब दर्जनभर संदिग्ध नक्सलियों का मूवमेट हैं। सूचना के बाद हॉक फोर्स तथा बालाघाट पुलिस की दो टीम को भेजा गया। जहां 10-12 व्‍यक्ति दिखाई देने पर उन्‍हें पकड़ने के लिए घेराव किया। पुलिस को देखते ही नक्‍सलियों द्वारा पुलिस पर  अंधाधुंध फायरिंग की गई। पुलिस बल द्वारा नक्सलियों को घेर लिये जाने और आत्मसमर्पण करने के लिए चेतावनी दी गई। चेतावनी के बावजूद नक्सलियों ने भागते हुये पुलिस पार्टी पर फायरिंग की। नक्‍सलियों ने पुलिस पार्टी पर 80-90 राउण्‍ड फायर किए । आत्‍मरक्षार्थ हॉफ फोर्स और पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। अंधेरे तथा घने जंगल का लाभ उठाकर नक्सली जंगल की ओर भागने में सफल रहे। सुबह उजाला होने पर पुलिस बल द्वारा घटना स्थल का तलाशी अभियान चलाया गया, जिसमें एक वर्दीधारी महिला नक्सली मय 12 बोर हथियार के जिसकी उम्र करीब 25 वर्ष का शव प्राप्त हुआ। महिला नक्‍सली की पहचान खटिया मोचा दलम में सक्रिय एरिया कमेटी मेम्बर शारदा उर्फ पुज्जे निवासी पश्चिम बस्तर जिला बीजापुर (छ0ग0) के रूप में हुई।

मप्र में 3 लाख और छत्तीसगढ़ में 6 लाख का था इनाम 

महिला नक्सली पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा तीन लाख रूपये और छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पांच लाख रूपये, इस प्रकार आठ लाख रूपये का ईनाम घोषित था। जिसपर पर जिला कबीरधाम (छ0ग0) में आठ अपराध, जिला राजनांदगाँव (छ0ग0) में एक और जिला बालाघाट (म0प्र0) में नौ अपराध इस प्रकार कुल 18 नक्‍सल अपराध दर्ज हैं।

ग्रामीणों से डराकर एकत्रित सामान जब्त 

घटना स्थल के आस-पास के क्षेत्र से नक्सलियों द्वारा ग्रामीणों को डराकर एकत्रित किया गया सामान अलग-अलग स्थानों पर पड़ा मिला जो नक्सली भागते वक्त छोड़ गये। इसमें लगभग सात जोड़ी जूते-चप्पल खेत तथा नाले की गीली मिट्टी में फंसे मिले जिनमें से एक में खून के निशान मिले हैं। जिससे यह प्रतीत होता है कि नक्सल दलम के अन्य सदस्यों में से कुछ घायल हैं जिनकी तलाश लगातार जारी है।

इनकी सराहनीय भूमिका 

इस संपूर्ण कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी, निरीक्षक अब्‍दुल सलीम खान, उपनिरीक्षक अजीत सिंह, सहायक उप निरीक्षक विपिन खलको, आरक्षक इस्‍लाम आलम और विकास कुमार की साहसिक भूमिका रही। पुलिस की दूसरी टीम में एएसपी

मृतका महिला नक्सली

बैहर श्याम कुमार मरावी, एसडीओपी आदित्‍य मिश्रा और जवान शामिल थे।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *