इंदौर अपराध -तकनीक से एटीएम से साढे़ 12 लाख लूटने वाले पुलिस के हत्थे चढ़े

इंदौर अपराध -तकनीक से एटीएम से साढे़ 12 लाख लूटने वाले पुलिस के हत्थे चढ़े
Share on social media
थाना लसुड़िया एवं थाना परदेशीपुरा इंदौर में ए.टी.एम. से लाखो की चोरी करने वाले गिरफ्तार 
– लसुड़िया के बैक ऑफ इंडिया के ए.टी.एम. से चोरी 12,47,500 / -बरामद 
– आरोपियों से आलाजर इलेक्ट्रिक ड्रिल मशीन, कटर, हथौड़ा, पेचकस, सुंबा बरामद 
– *परदेशीपुरा के ए.टी.एम से फरवरी 13.80,000 चोरी करना भी कबूला 
-डीआईजी ने वारदातों का खुलासा करने वाले टीम को दी 50000 का ईनाम देने की घोषणा
mp03.in संवाददाता भोपाल /इंदाैर 
लसुडिया और परदेशीपुरा इलाकों में एटीएम मशीने तोड़ने की दो वारदातों में 26 लाख की लूट का इंदौर पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। इन वारदातों को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने 12 लाख 47 हजार रूपए भी बरामद कर लिए हैं।
इंदौर पुलिस के अनुसार  शहर में चोरी/नकबजनी की घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं इनमें संलिप्त आरोपियों की पतारसी के लिए एडीजी इंदौर विवेक शर्मा और डीआईजी ( शहर ) हरिनारायण चारी मिश्र द्वारा प्रभावी कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया है। इस संबंध में एसपी  (पूर्व) विजय खत्री के मार्गदर्शन और एएसपी पूर्व राजेश रघुवंशी के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर मुहिम चलाई जा रही थी। 12 सितंबर की सुबह लगभग 4 30 बजे लसुडिया स्थित बैंक आफ इंडिया के ए टी एम से 1247500 चोरी की घटना हुई। इस पर अपराध क्रमांक 879/20 धारा 380 भादवि का अपराध दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ किया गया । सर्वप्रथम घटना के आस पास रहने वाले लोगो तथा मार्निग वाक पर निकलने वाले लोगो से पुछताछ करने पर घटना स्थल के पास बंद हेडलाईट वाली मोटर सायकल का आना जाना पता चला तथा काले मास्क लगाये दो लोगो का गुजरना पता चला था । चुकि घटना तकनीकी जानकार चोरो द्वारा घटित होना प्रतीत हो रही थी अतः ए टी एम में पैसा डालने वाली कंपनी सिस्को के 25-30 की संख्या में लगे हुए कस्टोडियन्स एंव अन्य कर्मचारीयों से लगातार कई दिनो तक पुछताछ की गयी तथा प्रत्येक कस्टोडियन के दिनचर्या जानने के लिये उनके घरो के आस पास सिविल में पुलिस लगायी गयी। संदेह के आधार पर क्लर्क कालोनी निवासी राहुल जैन पिता प्रमोद जैन और हीरानगर निवासी  सुभाष सिंह भदौरिया को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। जिन्होने  ने वारदात करना कबूली। साथ ही आरोपियों ने परदेशी पुरान में भी एटीएम मशीन तोड़ृकर पुरानी वारदात करना भी कबूला। से इलेक्ट्रिक ड्रिल मशीन , कटर , हथौड़ , पेचकस , सुंबा बरामद किया गया, जिनकी मदद से आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया था।  पुलिस द्वारा बदमाशों के कब्जे से चोरी गये 12,47,500 / – रू जप्त किए हैं तथा घटना में प्रयुक्त वाहन मोटर सायकल बजाज डिस्कवर भी बरामद की।
दो पूर्व कर्मचारियों पर संदेह 
मामले में सिस्को कंपनी में कार्य करने वाले दो पुर्व कस्टोडियन के बारे मे पुलिस को शक होने पर उनके बारे में जानकारी लेने पर पता चला की वह सुबह घर घूमने निकलते है तब उन दोनो के घर के आस पास सिविल में पुलिस की कड़ी निगरानी रखी गयी तथा आस पास रहने वालो से पुछताछ करने पर पता चला कि इस मोहल्ले के दो व्यक्ति अक्सर अपने साथीयों के साथ अक्सर पार्निग वाक पर निकलते है । जो कि पूर्व में ए.टी.एम. में पैसा डालने का काम करते थे इस सूचना पर बेहद गोपनीय तरीके से सिविल में पुलिस टीम लगायी गयी जिसने अपनी उपस्थिति लगातार बनाये रखकर आस पास के लोगो को विश्वास में रखकर यह जानकारी लगायी कि इतवार को सुबह उक्त दोनो कस्टोडियन रात में ही अपनी मोटर सायकल से निकले थे एवं सुबह लगभग 6 बजे के आस पास घर वापस आये थे एवं जाते एवं आते वक्त इनके पास एक बैंग था । इनकी मोटर सायकल हेड लाईट भी काफी दिनों से बंद है इस कारण से इनके उपर शक और बढा तब इनसे क़डाई से पुछताछ प्रारंभ की गयी ।
इनकी सराहनी भूमिका 
वारदात के खुलासे में  सी एस पी विजय नगर राकेश गुप्ता, थाना प्रभारी इंद्रमणि पटेल, उनि अशरफ अली, आर धीरेन्द्र, आर नरेश चौहान, आर सुरेन्द्र यादव, आर नीरज तोमर, आर अंकुश, आर विक्रम, आर अमित खत्री, आर दुश्यंत राठौर, आर हेमंत चौहान की सराहनीय भूमिका रही । टीम को डीआईजी ने 50 हजार रूपए नगद इनाम देने की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *