सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले चार व्यक्तियों पर रासुका

सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले चार व्यक्तियों पर रासुका
Share on social media

  डेढ़ सौ धारदार अवैध हथियारों की तसकरी कर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की थी योजना

mp03.in संवाददाता भोपाल

 त्योहारों के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए अवैध हथियारों की बिक्री एवं उनके परिवहन पर रोकथाम अभियान के तहत मोहर्रम त्योहार के दौरान सारंगपुर की पुलिस टीम ने अवैध हथियारों का परिवहन करने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता अर्जित की।

            मुखबिर की सूचना पर थाना सारंगपुर की पुलिस टीम द्वारा आरोपी सलमान पिता मो. रफीक उम्र 20 साल व हकीम पिता अ. खालिद उम्र 19 साल दोनो नि. वजीर हुसेन मोहल्ला सारंगपुर, जहीर पिता आजाद खान व अब्दुल करीम पिता रईस खान मेव दोनो नि. वजीर हुसैन मो. सारंगपुर सैदाबाग जोड़ एबी रोड को पकड़कर पूछताछ करने पर पाया गया कि यह चारों व्यक्ति मोहर्रम और गणेश चतुर्थी के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की दृष्टि से भीलवाड़ा से करीबन डेढ़ सौ धारदार हथियार तलवार बनाने की सामग्री जिसमें कि कुछ शस्त्र और करीबन डेढ़ सौ तलवारों के मुठ शामिल हैं उन्हें तस्करी कर सारंगपुर एवं आसपास के क्षेत्रों में अवैधानिक गतिविधियों में संलिप्त उनके साथियों को उपलब्ध करा कर अवैध शस्त्रों का प्रदर्शन करना चाहते थे। जिससे कि कोरोना काल के दौरान इस तरह के प्रदर्शन से सांप्रदायिक सौहार्द की स्थिति बिगड़े और समुदाय विशेष में अराजकता और हिंसा की भावना उत्पन्न हो जिससे ना केवल सारंगपुर बल्कि पूरे जिले और प्रदेश का  सांप्रदायिक माहौल खराब हो।  सूचना पर एसडीओपी सारंगपुर जॉयस दास एवं थाना प्रभारी सारंगपुर हाकम सिंह पंवार द्वारा तत्काल संज्ञान लेते हुए चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और उन चारों आरोपियों के इस तरह के मंसूबों को नाकाम करने में सफलता हासिल की गई जिससे ना केवल सभी त्योहार बल्कि सारंगपुर राजगढ़ और आसपास के सभी इलाकों में सांप्रदायिक सौहार्द बरकरार रहा और सभी त्यौहार शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराए जा सके। इन चारों के संबंध में अन्य सूचनाएं भी प्राप्त हुई थीं जिसके चलते आरोपीगणों का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड देखकर इनकी गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए और प्रदेश में सांप्रदायिक सौहार्द को बनाए रखने के लिए आरोपियों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही करना आवश्यक हुआ । सोशल मीडिया के माध्यम से आरोपियों द्वारा फोटोस और कॉमेंट्स किए गए थे उनका भी अवलोकन किया गया जिसमें प्रदर्शित इनकी हिंसक प्रवृत्ति और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की प्रवृत्ति के चलते आरोपीगणों को निषेध करने हेतु उनके विरुद्ध निषेधाज्ञा पारित करना आवश्यक था।  पूर्व में आरोपियो के विरूध्द थाना सारंगपुर मे अप. क्रमांक 420 एवं 421/20 धारा 25 आर्म्स एक्ट के तहत कायम कर विवेचना मे लिया गया।

इनका कहना 

 कुकृत्य से निश्चित रूप से सामाजिक सुरक्षा पर संकट आ सकता था परंतु पुलिस के सार्थक प्रयासों से धार्मिक सद्भावना को खिन्न भिन्न करने वाले कृत्य को होने से रोका जा सका। निश्चित रूप से धार्मिक सद्भावना को ठेस पहुंचाने सहित सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने एवं सामाजिक सुरक्षा को संकट में डालने के लिए उपरोक्त आरोपियों द्वारा अवैध हथियारों का परिवहन करना पाया जाने से चारों आरोपियों के विरुद्ध पुलिस द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा 3(2) के तहत NSA करवाई हेतु प्रस्ताव तैयार कर  जिला दंडाधिकारी जिला राजगढ़ के समक्ष प्रकरण प्रस्तुत किया गया है, जहां से आज आरोपियों को जेल भेजा गया है।

प्रदीप शर्मा, एसपी राजगढ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *