चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले चढ़े बड़वानी पुलिस के हत्थे

चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले चढ़े बड़वानी पुलिस के हत्थे
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल/बड़वानी 

व्यापारी के घर लाखों रूपए की चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह का बड़वानी पुलिस ने पर्दाफाश किया है। गिरोह से एक लाख रूपए नगदी समेत 11 लाख रूपए का माल भी पुलिस ने बरामद करने में सफलता हासिल की है।

बड़वानी पुलिस के अनुसार  लूट, डकैती, नकबजनी व चोरी इत्‍यादि अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए एसपी  निमिष अग्रवाल ने वरिष्‍ठ अधिकारियों और सभी थाना प्रभारियों को विशेष निर्देश दिए। 4 अगस्‍त को  औझर जिला बड़वानी निवासी फरियादी महेन्‍द्र पिता भूरेलाल गर्ग ने रिपोर्ट दर्ज की थी कि तीन अगस्‍त की दरमियानी रात उनके भाई अंतिम पिता भूरेलाल गर्ग के ग्राम औझर स्थित नागलवाडी रोड़ पर बने सूने मकान से नगदी एवं सोने चांदी के जेवरात कोई अज्ञात बदमाश चोरी कर ले गया है। फरियादी की रिपोर्ट पर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी  निमिष अग्रवाल के निर्देशन तथा एडिशनल एसपी  सुनीता रावत और एस.डी.ओ.पी.सेंधवा  एम.एस.बारीया के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी नागलवाडी के नेतृत्‍व में पुलिस टीम गठित कर कार्रवाई शुरू की गई। इस दौरान मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर संदेही आकाशनगर थाना द्वाराकापुरी इंदौर निवासी सिकंदर सिंह पिता बचपन सिंह सिकलीगर, सौरापाडा अक्कलकुवा जिला नंदुरबार महाराष्ट्र निवासी दर्शन सिंह पिता धर्म सिंह सिकलीगर, औझर निवासी बबलू उर्फ शेर सिंह पिता भगवान सिंह सिकलीगर, एकता नगर नंदुरबार निवासी शमशेर सिंह पिता ओंकार सिंह सिकलीगर और औझर निवासी  सिकंदर पिता नेपाल सिंह को पकड़ा। पूछताछ करने पर आरोपियों ने अंतिम गर्ग के घर से चोरी करना स्वीकार किया। आरोपियों की निशानदेही पर उनके घर से चोरी की दो सोने की चैन, एक सोने का ब्रेसलेट, दो सोने की अंगूठी, दो सोने की बाली, एक सोने का पैंडल इस प्रकार कुल बीस तोला सोना कीमत करीब दस लाख रुपये और एक लाख रुपये नगद पुलिस ने जप्त कर लिए हैं। आरोपियों से अन्य मामलों में पूछताछ की जा रही है।

दूसरे राज्यों से आरोपियों का रिकार्ड किया तलब 

गिरफ्तार आरोपियों के तार मध्‍यप्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात में जुड़े होने के सूत्र मिलने पर अन्‍य राज्यों के संबंधित थानों से आरोपियों का पुलिस रिकॉर्ड भी बुलाया जा रहा है। आरोपीगण ताला-चाबी बनाने का धंधा करते थे तथा गली-मौहल्लो में दोपहर के समय फैरी लगाकर सूने मकान का पता करते थे। सूने मकान का पता चलने पर रात्रि में उस मकान में चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। सभी आदतन किस्म के अपराधी है।

इनकी सराहनीय भूमिका 

चोरी गए संपूर्ण माल की बरामदगी कर चोरी की घटना को सुलझाने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी नागलवाडी अर्जुन सेमलिया, प्रधान आरक्षक अनिल पुरोहित, शाकिर अली, धनेश्वर  पाटील,  नारायण, संजय, आरक्षक  बंशीलाल और पवन की अहम भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *