4 माह के बच्चे के अपहरण की साजिश रचने वाली चाची समेत चार आरोपी गिरफ्तार

4 माह के बच्चे के अपहरण की साजिश रचने वाली चाची समेत चार आरोपी गिरफ्तार
Share on social media
mp03.in संवाददाता जबलपुर 
 बेचने के मकसद में मां के बगल में सो रहे चार माह के बच्चे को अगवा करने वाली चाची समेत चार आरोपियों को जबलपुर की बरगी पुलिस ने गिरफ्तार कर बच्चे को बरामद कर लिया है। आरोपियों में तीन महिला शामिल हैं।
जबलपुर पुलिस के अनुसार  थाना बरगी में 19 सितंबर को एक 4 माह के बालक का अपहरण हो जाने की सूचना पर अपराध दर्ज किया गया। शिकायतकर्ता ग्राम धाधरा बरगी निवासी राजेश बरकड़े ने बताया कि उसके 2 बच्चे हैं। बड़ा बेटा अभी बरकड़े (3) तथा छोटा लड़का रिहांश ( 04 माह) हैद। जोकि 18 सितंबर की रात 11 बजे  है दिनंाक 18-9-2020 की रात्रि लगभग 11 बजे वह तथा उसकी पत्नी किरन बरकड़े दोनों बच्चों को बीच में रखकर एक किनारे में वह एवं दूसरे किनारे में उसकी पत्नी रिहांश को लेकर सोई थी , रात लगभग 1 बजे उसकी पत्नी ने उसे जगाया एवं बताया कि रिहांश घर में नहीं है तो वह उठा और दोनों ने पूरे घर में रिहांश की तलाश की जो घर में नहीं मिला । तब पड़ौसी लखन , अंगद एवं अनूप बरकड़े को घटना की सारी बात बतायी एवं आस पास नाले जंगल में तलाश पतासाजी किये रिहांश का कहीं पता नहीं चला है । जिसके बाद आकर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ  धारा 363, 365, 451 भादवि का अपराध दर्ज कराया। सूचना के बाद एसपी जबलपुर  सिद्धार्थ बहुगुणा घटना स्थल पहुंचे तथा इस सनसनी खेज घटना को की सूक्ष्म जांच कर मासूम बालक रिहांश की सही सलामत दस्तयाब करने के निर्देश दिए। साथ ही आरोपी की गिरफ्तारी पर 10 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार के ईनाम की उद्घोषणा की। आदेश के परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमित कुमार (भा.पु.से), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (क्राईम) गोपाल खांडेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) शिवेश सिंह बघेल, के मार्ग निर्देशन में नगर पुलिस अधीक्षक बरगी सभांग रवि चैहान, नगर पुलिस अधीक्षक ओमती आर.डी.भारद्वाज, नगर पुलिस अधीक्षक गोहलपुर  अखिलेश गौर के नेतृत्व में थाना प्रभारी बरगी शिवराज सिंह एंव क्राईम ब्रांच जबलपुर की सयुक्त टीम को लगाया गया।
                   गठित एस.आई.टी. टीम  ग्राम धाधरा एवं आसपास क्षेत्रो के 100 से अधिक लोगो से गहन पूछताछ की गई एवं मुखविर लगाये। मुखबिर की सूचना पर संदेही चाची राम प्यारी बाई से सघन पूछताछ की गई। पैसों के लालच मे  रिहांश को  चुपके से उठाकर  गाॅव में परिचित संजय पांडे निवासी बजरंग नगर गढा को दे देना कबूला। पुलिस टीम ने संजय पांडे व संजय की पत्नि शारदा पाण्डे को अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गई, जिन्होंने बच्चे को नरसिंहपुर में शारदा पांडे की भांजी रानू शर्मा उर्फ आयशा को बच्चा देना बताया, जिसके माध्यम से बच्चा मुंबई में बिकने वाला था। आरोपी दंपत्ति की निशानदेही पर 7 अक्टूबर को बच्चे को नरसिंहपुर स्थित रानू शर्मा उर्फ आयशा के घर से बरामद कर लिया गया। चारों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने  प्रकरण में धारा 370 क, 120 बी भादवि एवं 3(2)व्ही एससीएसटी एक्ट का इजाफा कर दिया।
उल्लेखनीय भूमिका
इस मामले को सुलझाने में  थाना प्रभारी बरगी शिवराज सिंह, उप निरीक्षक आशुतोष मिश्रा, कांति ब्रम्हे, कुलदीप पटेल,  शशिकला उइके, सउनि रवि सिह परिहार, प्रधान आरक्षक सुरेश तिवारी, रामकरण मिश्रा, सियाराम, आरक्षक अरविंद, इद्रकुमार, कौरव, आदित्य, पोहप सिह, रवि शर्मा, प्रदीप तिवारी, महिला आरक्षक काजोल धुर्वे, कविता बघेल, आरक्षक चालक सत्यप्रकाश शर्मा थाना बरगी, प्रधान आरक्षक सच्चिंदानद थाना तिलवारा, क्राईम ब्राच के सहायक उप निरीक्षक रामसनेही शर्मा, प्रधान आरक्षक मृदलेश शर्मा, आरक्षक अजय जैन, संतोष सिह, अनुप सिह, रवि सागर, मानस उपाध्याय, राजेश केवट, अजीत पटेल, अनुप शर्मा, सत्यसेन , जितेन्द्र दुबे, ज्ञानेन्द्र पाठक, महिला आरक्षक पूनम पाण्डे, नेहा दुबे थाना हनुमानताल सायबर सेल के उप निरीक्षक नीरज नेगी, आरक्षक अभिषेक मिश्रा की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *