सनसनीखेज तरीके से हत्या करने वाली घटना का संयोगितागंज पुलिस ने किया पर्दाफाश

सनसनीखेज तरीके से हत्या करने वाली घटना का संयोगितागंज पुलिस ने किया पर्दाफाश
Share on social media
आरोपी पुलिस थाना संयोगितागंज की गिरफ्त में
– आरोपी है पूर्व अपराधी, जोकि बैतूल में 2 वर्ष की मासूम बालिका से कर चुका दुष्कर्म 
– आरोपी बाल सुधारगृह से कुछ समय पूर्व ही जमानत पर छूटा था
mp03.in संवाददाता इंदौर 
बाफना चोराहे के पास एक अज्ञात महिला के अंधे कत्ल का संयोगितागंज पुलिस ने पर्दाफाश कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है।
इंदौर पुलिस के अनुसार 8 अक्टूबर को डायल 100 स्टाफ को सूचना मिलीं कि थाना संयोगितागंज के
बाफना चैराहे के पास बी.सी. चेम्बर के शटर के बाहर एक अज्ञात महिला मृत अवस्था मे पडी है।  पुलिस टीम मौके पर पहुंची, जहां से एक  अज्ञात महिला  45 वर्षीय महिला का शव मिला। जिसके सिर से  खून निकल रहा था और गले में  एक कपडा तथा कार्टून पैक करने वाली सफेट प्लास्टिक की स्ट्रेप फंसी थी। पुलिस द्वार तत्काल मर्ग कायम कर जाँच में लिया गया तथा मौके पर एफ.एस.एल अधिकारी द्वारा मृतिका के शव का निरीक्षण कर, मृतिका का पी.एम करवाया गया। पी.एम. रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात आरेापी के  विरुद्ध अप.क्र 351/20 धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।
पुलिस टीम द्वारा विवेचना के दौरान घटना स्थल पर मिले सीसीटीवी फुटेज एवं मुखबिर की सूचना के आधार पर संदेही शिवराज पिता फगज परते (9) निवासी बालाडोंगरी थाना बीजादेही जिला बैतूल को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई। उक्त आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने के लिये पहले अपना नाम अजय धुर्वे निवासी चापडा थाना बागली जिला देवास का बताया। चापडा मे तस्दीक की गई तो आरोपी के द्वारा बताया गया नाम व पता गलत निकला। तब पुलिस टीम ने आरोपी से पुनः हिकमत अमली से पूछताछ की गई।
आरोपी बताया कि  मृतिका की हत्या इसलिए की उसने 7 अक्टूबर को 400 रूपए में संबंध बनाने के लिए पैसे लिए थे, महिला ने शाम को एमवायएच के पास मिलने का वादा किया था।  जब शाम को आरोपी एम.वाय.एच के पास अज्ञात मृतिका से मिला तो उसने सम्बन्ध बनाने से एवं 400 रु वापस करने से मना कर दिया। इस बात से क्षुब्ध होकर आरोपी ने शराब पी फिर रात्रि में नशे मे आकर बी.सी. चेम्बर के शटर के बाहर सीढियो पर सोती हुई अज्ञात महिला को बाल पकड़कर खीचकर प्लास्टिक की कार्टून बाँधने वाली सफेद रंग की स्ट्रेप से गला घोटकर तथा घटना स्थल पर ही लगे इन्टरलॉक टाईल्स निकाल कर टाईल्स से सिर मे मारकर चोट पहुँचा अज्ञात मृतिका की हत्या कर दी तथा आरोपी उसका एक बैंग उठाकर ले गया था।
दो महिने पहले ही जमानत पर आया 
तो उसने आपना नाम शिवराज परते बताया और एक नम्बर भी बताया। पुलिस ने उसके द्वारा बताये गये नम्बर पर चर्चा की गई तो उक्त नम्बर रमेश बारस्कर भृत्य बाल सुधारगृह बैतूल का निकला, जिसने बताया कि उक्त आरोपी उसके बाल सुधारगृह मे थाना विचैली के धारा 376 भादवि के प्रकरण मे लगभग 01 वर्ष निरुद्ध रहा था, जिसकी दो से तीन माह पूर्व ही जमानत हुई है।
मृतका के दस्तावेज बरामद 
आरोपी के पास से मिले मृतिका के बैग जिसमे 03 बैंक खातो की पासबुक, टी.डी.आर तथा मृतिका के पासपोर्ट साईज के फोटोग्रॉफ एवं एक आधारकार्ड बनवाने के लिये बनाया गया एफिडेबिट व अन्य सामग्री तथा आरोपी के घटना के समय पहने हुए कपडे जप्त किए गए है।
मृतिका की पहचान हुई, परिजनों की तलाश 
आरोपी से जब्त  सामग्री में मिले दस्तावेजों के अनुसार  मृतिका का नाम  सुनीता  महेंद्र राजवैध उम्र 49 वर्ष नि . क् – 1809 सुदामा नगर इन्दौर होने का पता चला है। उक्त पते पर तस्दीक हेतु पुलिस पार्टी भेजी गई तो इस पते पर कई वर्ष पूर्व से ही मृतिका द्वारा किराये का मकान छोड दिया गया है । मृतिका के परिजनो की तलाश की जा रही है । परिजनो के मिलने पर मृतिका के शव को दिखाकर पहचान की कार्यवाही कराई जावेगी ।
2 साल की बच्ची से कर चुका दुष्कर्म 
आरोपी के बारें में थाना प्रभारी विचैली जिला बैतूल से जानकारी प्राप्त करने पर पता चला कि आरोपी शिवराज के विरुद्ध एक 02 वर्ष की मासूम बालिका के साथ वर्ष 2017 को दुष्कर्म करने के कारण अप.क्र 374/17 धारा 376 भादवि एवं लैंगिक अपराधो से बालको का संरक्षण अधिनियम 2012 के अन्तर्गत अपराध पंजीबद्ध होकर, आरोपी को बाल सुधार गृह मे भेजा गया था, जहां से उसकी दो से तीन माह पूर्व ही जमानत हुई है। पुलिस द्वारा आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, जिसके संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा रही है।
इनकी सराहनीय भूमिका 
इस जघन्य सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करने मे वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में थाना संयोगितागंज के थाना प्रभारी राजीव त्रिपाठी , प्रउनि मंजुलता अहिरवार , उनि.अक्षय कुशवाह , प्र.आर 80 हरीश , आर .1481 रिकु राजपूत , आर 93 संजय , आर .3238 विश्वास , आर 3148 विनोद, म.आर 1796 खुशबू , म.आर 3161 शालिनी व एफ.आर.वी के आर 1181 सुनील पटेल एवं पायलेट जीवन का सराहनीय योगदान रहा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *