कजियात में तलाक के पेपर पर साइन नहीं करने पर पत्नी को तीन तलाक देकर छोड़ा

कजियात में तलाक के पेपर पर साइन नहीं करने पर पत्नी को तीन तलाक देकर छोड़ा
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

दहेज की मांग से परेशान विवाहिता अपने मायके चली गई, बाद में राजीनामे का झांसा देकर पति उसे कजियात ले गया। जहां धोखे से तलाक के दस्तावेज पर साइन कराने की कोशिश की, इंकार करने पर पति ने तीन बार तलाक देकर पत्नी को छोड़ दिया। शिकायत मिलने पर पुलिस ने दहेज प्रताडऩा व मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ऐशबाग के अनुसार बागफरहत अफ्जा निवासी उजमा कुरैशी (32) की शादी वर्ष 2007 में रासयेन निवासी सन्नवर कुरैशी से हुई थी। सन्नवर की रायसेन जिले में खेती-किसानी है साथ ही वह प्राइवेट काम भी करता है। शादी के समय पर्याप्त मात्रा में दहेज दिया गया था,  बावजूद शादी के बाद ही सन्नवर ने दहेज की मांग को लेकर उसे प्रताड़ित करने लगा। बच्चे होने के बाद  सनव्वर का बर्ताव कुछ हद तक बदला लेकिन बाद में फिर वह पत्नी को प्रताडि़त करने लगा। परेशान होकर पिछले दिनों महिला वापस अपने मायके लौट आई। कुछ दिनों बाद सन्नवर अपनी ससुराल आया तथा बोला कि चलो कजियात में चलकर समझौता कर लेते हैं। पति पर भरोसा करते हुए महिला उसके साथ चली गई। यहां पर उसने कुछ कागजातों को समझौते के कागज बताकर उन पर हस्ताक्षर करने को कहा। उजमा ने साइन करने से पहले जब कागज पढ़े तो हैरान हो गई। यह कागज समझौते के कागज न होकर तलाक के कागज थे। उजमा ने तुरंत ही कागज पर साइन करने से मना दिया। इस पर गुस्साया सन्नवर बोला कि अगर तुम मुझे तलाक नहीं देती हो तो मैं तु हें तलाक देता हूं। उसने तीन बार तलाक बोलकर पत्नी को तलाक दे दिया। महिला ने कल मामले की शिकायत पुलिस को कर दी। पुलिस ने सन्नवर के खिलाफ दहेज प्रताडऩा व मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपी की अभी गिर तारी नहीं हो पाई है। उजमा ने अपनी शिकायत में यह बताया कि उसके पति ने उसे बताए बगैर ही किसी दूसरी महिला से शादी कर ली है। हालांकि पुलिस का कहना है कि आरोपी की गिरफ्तारी के बाद ही इस बात की तस्दीक हो पाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *