सीआईडी के भी निशाने पर रहा था टेक्नोमैक घोटाले का मास्टर माइंड विनय शर्मा

सीआईडी  के भी निशाने पर रहा था टेक्नोमैक घोटाले का मास्टर माइंड  विनय शर्मा
Share on social media

-आबकारी विभाग को विनय शर्मा के हस्ताक्षर से फर्जी बिल और फर्जी वाहन नंबर की जानकारी भेजी गई थी।

mp03.in संवाददाता हिमाचल प्रदेश

टेक्नोमैक घोटाले के मामले की जांच कर रही एसपी संदीप धवल की अध्यक्षता वाली सीआईडी की एसआईटी ने लंबी पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया था। दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा इंडियन टेक्नोमैक घोटाले का आरोपी विनय शर्मा हिमाचल प्रदेश पुलिस की सीआईडी के दर्ज मामले में भी अहम आरोपी है। पांवटा साहिब स्थित इंडियन टेक्नोमैक कंपनी की इकाई के जरिये किए गए करीब 4000 करोड़ के टैक्स घोटाले की जांच में भी इसका नाम सामने आया था। विनय आधिकारिक हस्ताक्षरकर्ता था और कंपनी का सेल पर्चेज देखता था। आबकारी विभाग को इसी के हस्ताक्षर से फर्जी बिल और फर्जी वाहन नंबर की जानकारी भेजी गई थी। इस मामले की जांच कर रही एसपी संदीप धवल की अध्यक्षता वाली सीआईडी की एसआईटी ने लंबी पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया था।
फिलहाल एसआईटी ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है और दुबई में गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपी और कंपनी के मालिक आरके शर्मा को भारत लाने के लिए प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *