लोन न मिलने के बावजूद पैसे भी वापस न मिलने से दुखी नगरनिगम कर्मी ने फांसी लगाकर जान दी

लोन न मिलने के बावजूद  पैसे भी वापस न मिलने से दुखी नगरनिगम कर्मी ने फांसी लगाकर जान दी
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

पिपलानी इलाके में बैंक से लोन नहीं होने के बावजूद रिश्वत के पैसे न लौटाने से दुखी होकर नगरनिगम कर्मी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की थी।  सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने 9 महीनें बाद  रकम लेने वाले व्यक्ति के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया।

टीआई चैन सिंह रघुवंशी के अनुसार चांदमारी झुग्गीबस्ती निवासी  22 अजय धमधेरिया नगर निगम में दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी था। 7 जुलाई को उसने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को उस समय मृतक के पास से एक सुसाइड नोट मिला था। जिसमें उसने लिखा था कि उसने बैंक से तीन लाख रुपए का लोन कराने के लिए प्रयाग सक्सेना को बीस हजार रुपए दिए थे। रकम देने के बाद भी लोन नहीं मिल रहा था। साथ ही वह पैसे वापस भी नहीं कर रहा था। पुलिस ने सुसाइड नोट की हैंडराईगिंट की जांच के लिए उसे पीएचक्यू भेजा था। जहां से रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ केस दर्ज किया। साथ ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी कर लिया। आरोपी युवक एजेंट के रूप में काम करता है, और लोगों के लोन कराता था। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *