आर्थिक तंगी के चलते पत्नी के मायके जाने से दुखी पति ने फांसी लगाकर जान दी

आर्थिक तंगी के चलते पत्नी के मायके जाने से दुखी पति ने फांसी लगाकर जान दी
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

आर्थिक तंगी के चलते शादी के सात साल बाद पत्नी के मायके चले जाने से दुखी बेरोजगार पति ने शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मामलें  में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

अवधपुरी पुलिस के अनुसार आधारशिला कालोनी निवासी सतीश पिता जगतपति (31) की करीब  सात साल पहले शादी हुई थी। शादी के समय सतीश ने पत्नी को बताया था कि वह नौकरी करता है, लेकिन बाद में पता चला कि वह बेरोजगार है।  शादी के सात साल बीत जाने के बाद भी उसे कोई काम नहीं मिला था। घर के खर्च के लिए भी पत्नी अपने मायके से मदद लेती थी। पत्नी के मायके जाने के बाद से वह दुखी रहने लगा था। वह अपने दोस्त सुधांशु के साथ रह रहा था। गुरुवचार को दोस्त सुधांशु ने पुलिस को सतीश के फांसी लगाने की सूचना पुलिस को दी। सुधांशु ने बताया कि वह और सतीश साथ में एक ही घर में रहते थे। गुरुवार सुबह जब वह सोकर उठा तो उसने सतीश को फांसी के फन्दे पर झूलता मिला। अवधपुरी थाना प्रभारी मनोज त्रिपाठी ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर यह पता चला है कि सतीश लंबे समय से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। उसकी बेरोजगारी के कारण उसकी पत्नी भी गत 28 मई को घर छोडक़र मायके चली गई थी।

युवक ने आत्महत्या की

निशातपुरा थानाक्षेत्र में भी एक युवक ने आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि 28 वर्षीय विकास दुर्गा नगर पलासी में रहता था। उसके पिता स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी हैं। पिछले कुछ सालों से विकास की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। डॉक्टर आरएन साहू के पास उसका इलाज चल रहा था। गुरूवार सुबह विकास के पिता ड्यूटी चले गए थे। घर में छोटी बहन और मां थी। दोपहर के समय विकास पहली मंजिल पर बने अपने कमरे में चला गया था। थोड़ी देर बाद छोटी बहन जब कमरे में पहुंची तो उसने विकास को फांसी के फन्दे पर झूलते पाया। उसने शोर मचाया तो मां और पडा़ेसी वहां पर पहुंच गए। फंदे से उतारकर उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *