करोंद मंडी में कारोबारी पर गोली चलाने वालों का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तार

करोंद मंडी में कारोबारी पर गोली चलाने वालों का पर्दाफाश, तीन आरोपी गिरफ्तार
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

करोंद मंडी में व्यापारी के आफिस में घुसकर गोली चलाने वाले आरोपियों को क्राइम ब्रांच और निशातपुरा पुलिस ने पर्दाफाश कर लिया है। इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार 25 अक्टूबर करोंद मण्डी के गल्ला व्यापारी प्रकाश अनिल भागचंदानी अपने कार्यालय में बैठकर हिसाब-किताब कर रहे थे। इसी बीच रात साढे़ 9 बजे अज्ञात नकाबपोश पार्सल देने के बहाने आया, जिसने अपने पिठ्ठू बेग से पिस्टल निकालकर  कारोबारी प्रकाश भागचंदानी पर तान दी। उसके गोली चलाने से पहले प्रकाश टेबिल के नीचे छुप गए, जिससे गोली दीवार पर जा लगी। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गया। निशातपुरा पुलिस ने अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अपराध क्रमांक 1142/21 धारा 307 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। अज्ञात आरोपी की तलाश के लिए क्राइम ब्रांच और थाना निशातपुरा की संयुक्त टीम बनाई गई। जिन्होंने घटना स्थल के आस-पास के सीसीटीवी फूटेज खंगाले गये, प्रकरण में घटना के सभी पहलुओ पर बारीकी से विष्लेषण किया गया।
दिवाली की रात पुलिस टीम को सूचना मिली कि गल्ला मं में व्यापारी पर जान से मारने की नियत से हमला करने वाला संदिग्द्ध व्यक्ति पीपुल्स हाॅस्पिटल के सामने खडा है। मुखबिर की निशानदेही पर मौके से  संदिग्ध शुभम शर्मा को अभिरक्षा में  निया गया। जिससे  हिकमतअमली से पूछताछ करने पर उसने अपने अन्य दो साथी शुभम बैरागी व अरूण शर्मा (बैरागी) के साथ मिलकर व्यापारी को धमकाकर पैसो की मांग करने के उद्देष्य से हमला करना स्वीकार किया।  आरोपी की निशानदेही पर शुभम के दोनो साथियों को गिरफ्तार कर लिया गया।
तीनों दोस्त है कर्जदार 
 शुभम शर्मा, शुभम बैरागी व अरूण शर्मा (बैरागी) तीनो आपस में दोस्त है जिनके ऊपर काफी कर्जा है, शुभम बैरागी मण्डी में व्यापारी प्रकाश अनिल भागचंदानी की दुकान के पास में  ही एकाउन्टेन्ट का काम करता है।  शुभम बैरागी भली भाती जानता था की उक्त व्यापारी के पास काफी पैसा है और जो रात में देर तक आफिस में बैठकर हिसाब-किताब करता है।
तीनाें ने बताई योजना 
तीनो आरोपियों ने 22 अक्टूबर को बैठकर व्यापारी को धमकाकर पैसे ऐठने की योजना बनाई थी। कट्टा व कारतूस की व्यवस्थता आरोपी अरूण शर्मा (बैरागी) ने की थी। योजना के मुताबिक आरोपी शुभम शर्मा को व्यापारी को कट्टे से फायर कर डराना था। आरोपी शुभम बैरागी को अपनी मोटर साईकल से शुभम शर्मा को घटना स्थल तक लेकर आना एवं घटना के बाद पुलिस की गतिविधियों पर नजर रखना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *