एटीएम में ट्रांजेक्शन के बाद केश ट्रे में लोहे की पत्ती फसाकर पैसे निकालकर फरार होने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

एटीएम में ट्रांजेक्शन के बाद केश ट्रे में लोहे की पत्ती फसाकर पैसे निकालकर फरार होने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार
Share on social media
– आरोपीगण को ए.टी.एम.मशीन का है पूरा ज्ञान
– आरोपीगणों द्वारा स्वंय ही ए.टी.एम.मशीन मे छेडछाड के लिए बनाया गया है। लोहे का उपकरण
– भोपाल शहर के लगभग 100 ए.टी.एम.मशीन पर घटना कारित कि गई।
– अलग-अलग समूहों मे गैंग के सदस्य भोपाल आते है।
– गैंग के एक सदस्य को भोपाल के सभी क्षेत्रों का ज्ञान है।
– -भोपाल शहर के आठ थाना क्षेत्रों में स्थित ए.टी.एम.मशीन से कर चुकें है छेडछाड।
mp03.in संवाददाता भोपाल 
पदमनाभ नगर स्थित एसबीआई एटीएम में ट्रांजेक्शन करने के बाद केश ट्रे में पत्ती फसाकर पैसा घसीटने समेत करीब 100 से ज्यादा वारदातों को अंजाम देने वाले तीन आराेपियों को सायबर क्राइम पुलिस ने हरियाणा से गिरफ्तार कर लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।
क्राइम ब्रांच के अनुसार बागसेवनिवासी प्रेमप्रकाश रंगा पिता स्व. टेकराम रंगा एफ.एस.एस. (फाईनेंशियल साफ्टवेयर एंवसिस्टमप्राईवेट लिमिटेड) कंपनी मे कार्यरत हैं।  13 अगस्त को उन्होंने
ने शिकायत की थी कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा ए.टी.एम. मशीन से छेडछाड करके ए.टी.एम.मशीन को नुकसान पहुॅचाकर धोखाधडी कर नगदी निकाल ली गई है। शिकायत जाॅच के उपरान्त तकनीकि एनालिसिस व सी.सी.टी.व्ही फुटेज के आधार पर अज्ञात व्यक्तियों केे विरूद्ध अपराध क्रं 280/2021 धारा 380,451,427 भादवि. का पंजीबद्ध कर विेवेचना मे लिया गया  था।
सायबर क्राईम ब्राॅच द्वारा तकनीकि एनालिसिस व सी.सी.टी.व्ही फुटेज के आधार पर कडी जोडते हुए रेलवे स्टेशन पार्किंग मे खडी मोटर-साईकिल तक पहुची। मुखबिर ने बताया की कुछ लोग इसका इस्तेमाल करके गडी को पार्किंग मे खडा करके ट्रेन के द्वारा वापस चले जाते है। अतः स्टेशन पर संबंधित थाना हनुमानगंज की सहायता से लगातार मुखबिर तैनात किए गए थे तथा मुखबिर सूचना के आधार पर तीन आरोपियों ग्राम सापनकी, जिला पलवल हरियाणा निवासी शाहरूख, मनीष व आरिफ को हिरासत में लिया गया। जिन्होंने उक्त वारदात समेत कई वारदातों को अपने साथी शमीम.,इनाम, इक्लास, मुफरिद के साथ मिलकर अंजाम देना कबूला। जिनकी पुलिस को तलाश है।  आरोपियों से काले रंग की बजाज पल्सर मोटर-साईकिल व रजिस्ट्रेशन कार्ड, ए.टी.एम. मशीन में छेडछाड के लिए प्रयुक्त स्वनिर्मित विशेष उपकरण,02 एंड्राइड मोबाइल फोन (मय सिम), तीनो आरोपीयों के आधारकार्ड, 09 ए.टी.एम.कार्ड जब्त किए गए हैं।
*तरीका वारदात:-*  आरोपी शाहरूख खान को ए.टी.एम मशीन का ज्ञान है तथा ए.टी.एम मशीन की तकनीक मे किस तरह से छेडछाड नुकसान करना है यह कार्य शाहरूख के द्वारा किया जाता है। जबकि मनीष ए.टी.एम मशीन मे साथ रहकर आने वाले अन्य ग्राहकों को ध्यान मे रखता है। तथा अन्य आरोपी आरिफ बाहर मोटर सायकिल पर ए.टी.एम मशीन मे अन्दर गए दोनों साथियों के आने का इंतजार करता था।
वारदात के लिए भोपाल आते थे आरोपी 
जब वारदात के लिए भोपाल आते समय आरोपीगण ट्रेन से पहले पलवल से दिल्ली फिर दिल्ली से भोपाल आते थे। भोपाल आने के पश्चात रेलवे स्टेशन पर खडी मोटर सायकिल लेकर आरोपीगण स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ए.टी.एम में लगी एक विशेष प्रकार की मशीन (एन.सी.आर.) को ही निशाना बनाते थे। क्योंकि इस मशीन के साथ छेडछाड कर पैसा निकाल आरोपीगणों को अच्छे से आता है।
यू-टयूब से सिखा उपकरण बनाना 
आरोपीगण पलवल से ए.टी.एम मशीन में कैश प्लेट के बाहर फसाॅने के लिए लोहे का उपकरण बनाकर लाते थे। जिसको बनाने की विधि आरोपीगणों द्वारा यू-टयुब पर देखकर सीखी गई मशीन लगाने के बाद ए.टी.एम कार्ड से मनी विड्रावल करने पर मशीन मे त्रुटि बताने लगती थी परन्तु कैश आरोपीगणों द्वारा बनाया गया लोहे के उपकरण मे ही फॅस जाता था इस प्रकार आरोपीगणों के खाते से रकम कटती नही थी और आरोपीगण कैश निकालकर फरार हो जाते थे। आरोपीगणो द्वारा कैश निकालने के लिए जिस ए.टी.एम कार्ड का प्रयोग किया जाता है वह पलवल के ही रहने वाले आरोपीगण है।
100 बार दे चुके वारदात को अंजाम 
आरोपी अपने अन्य चार साथियों निवासी पलवल हरियाणा के द्वारा लगभग 100 बार ए.टी.एम मे लोंहे का उपकरण फॅसा कर घटना घटित की जा चुकी है। आरोपीगणों द्वारा भोपाल के विभिन्न थाना क्षेत्र जैसे जुमेराती, नबीबाग कालेज रोड,अयोध्या नगर, शाहपुरा, इतवारा, बजरिया, छोला, निशातपुरा, आशोका गार्डन आदि क्षेत्रों के ए.टी.एम मशीन मे छेडछाड करके पैसा निकाला जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *