स्मार्ट सिटी के काम की थी अनुमति, नोएंट्री में जाकर किया एक्सीडेंट

स्मार्ट सिटी के काम की थी अनुमति, नोएंट्री में जाकर किया एक्सीडेंट
Share on social media
– महिला की मौत के मामले में अब डंपर ड्राइवर के खिलाफ बढे़गी अन्य धाराएं
mp03.in संवाददाता भोपाल 
कोलार में एक्टिवा सवार दंपत्ति को रौंदने वाले तेज रफ्तार डंपर को स्मार्ट सिटी के काम के लिए अनुमति दी गई थी। वावजूद वह  निजी काम से नोएंट्री में कोलार इलाके में पहुंचा था, जहां उसकी चपेट में आने से एक्टिवा सवार महिला की दर्दनाक मौत हो गई थी। ऐसे में अब बगैर अनुमति के नोएंट्री में जाने पर पुलिस आरोपी डंपर चालक के खिलाफ अन्य धाराएं भी बढ़ाएगी।
जानकारी के अनुसार सागर एन्क्लेव एचके होम्स निवासी 44 वर्षीय श्वेता त्रिवेदी जेके अस्पताल के पास स्थित नशा मुक्ति केंद्र में काउंसलर थी। उनके पति शैलेष त्रिवेदी कंप्यूटर हार्डवेयर की दुकान चलाते हैं। शैलेष रोजाना सुबह पत्नी को नशा मुक्ति केंद्र छोड़कर दुकान जाते थे और शाम को दुकान बंद करने के बाद श्वेता को केंद्र से घर ले जाते है। रविवार की शाम को भी वह पत्नी को नशा मुक्ति केंद्र से घर लेकर जा रहे थे। वह गुड शेफर्ड कालोनी में कृष्णानयन होटल के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से तेज रफ्तार डंपर ने उनके स्कूटर को टक्कर मारी। हादसे की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल पहुंचाया। उसके पति को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। पुलिस ने डंपर को जब्‍त कर लिया था।में पुलिस की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि जिस डंपर ने टक्कर मारी थी। उसे स्मार्ट सिटी में काम करने की अनुमति दी गई थी, लेकिन वह प्राइवेट काम करने के दौरान दानिशकुंज में माल देने आया था। इस मामले में पुलिस की तस्दीक जारी है। कोलार पुलिस का दावा है कि इस एक्सीडेंट के मामले में आरोपी ड्राइवर के खिलाफ धाराओं में वृद्धि की जाएगी। इस मामले में पुलिस की लगातार पड़ताल जारी है। पुलिस इस संबंध में और जानकारी जुटा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *