जेपी अस्पताल की महिला सफाईकर्मी के नाबालिग बेटे ने लगाई फांसी

जेपी अस्पताल की महिला सफाईकर्मी के नाबालिग बेटे ने लगाई फांसी
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

अरेरा हिल्स इलाके में मां के डयूटी जाने के बाद नौवीं कक्षा के एक छात्र ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के वक्त  मृतक के छोटे भाई घर के बाहर गणेश झांकी पर थे।  पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पीएम कराने के बाद लाश परिजन को सौंप दी है। मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस के अनुसार मराठी मोहल्ला, भीमनगर निवासी  अरूण अहिरवार (14)  जहांगीराबाद स्थित एक स्कूल में नौवीं में पढ़ता था। परिवार में मां के अलावा दो छोटे भाई हैं, जबकि पिता सुरेश अहिरवार पिछले कुछ समय से अलग रह रहे हैं। मां जेपी अस्पताल में सफाई कर्मचारी हैं। शनिवार की रात करीब आठ बजे वह नाइट ड्यूटी के लिए अस्पताल चली गई थी, जबकि दोनों भाई बाहर गणेश झांकी पर थे। कुछ देर बाद छोटा भाई घर के अंदर पहुंचा तो अरुण को साड़ी का फंदा बनाकर फांसी पर लटका देखा। उसकी चीख सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव बरामद कर पीएम के लिए भेज दिया। मृतक के पास कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। परिजनों के शोकाकुल होने के कारण अभी बयान नहीं हुए हैं। बयान होने के बाद ही पता चल पाएगा कि अरुण ने यह कदम क्यों उठाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *