जालसाज ने सेना का जवान बनकर स्कूल संचालक और उनके कर्मचारी को बनाया ठगी का शिकार

जालसाज ने सेना का जवान बनकर स्कूल संचालक और उनके कर्मचारी को बनाया ठगी का शिकार
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल ब

कोहेफिजा क्षेत्र में छोटे बच्चों के लिए स्कूल संचालित करने वाले व्यक्ति को एक जालसाज ने छात्र का पिता वास सेना का जवान बताकर ठगी कर ली है।

कोहेफिजा पुलिस के अनुसार कमल भाटिया किड्स कैसल नाम से स्कूल संचालित करते हैं 29 अक्टूबर को उनके पास एक जालसाज ने फोन किया और कहा कि मैं श्रीकांत विश्वकर्मा बोल रहा हूं। मैं सेना का जवान हूं और गाजियाबाद में पदस्थ हूं मेरे सेना यूनिट का मुख्यालय कश्मीर के राजौरी में है मेरा बच्चा आपके विद्यालय में पड़ता है मेरा परिवार भोपाल में रहता है। उसने कहा कि मुख्यालय से मेरे बेटे की फीस पेड की जाएगी। इसलिए आप अपने स्कूल के बैंक खाते की डिटेल दे दीजिए । फरियादी स्कूल संचालक सेना का जवान समझकर जालसाज को अपने बैंक संबंधी जानकारी दे दी । इसके बाद जालसाज ने फोन पर के माध्यम से एक रुपए उनके खाते में भेजें । फरियादी को विश्वास हो गया इसके बाद जालसाज ने कहा आपके पास एक ओटीपी आएगा वह मुझे बता दीजिए । फरियादी स्कूल संचालक ने जैसे ही ओटीपी बताई जालसाज ने 10-10 हजार करके दो बार में ₹20000 उनके खाते से निकाल लिए । जालसाज इसके बाद फोन रिसीव करना बंद कर दिया जैसे ही कमल भाटिया ने यह बात अकाउंट का काम देखने वाले स्कूल कर्मचारी दिलीप सिंह को बताई।  दिलीप सिंह ने अपने मोबाइल से जालसाज को फोन लगाया तो उसने कहा कि तकनीकी गड़बड़ी से ऐसा हुआ है।  आप अपने बैंक खाते की डिटेल दीजिए मैं आप के खाते में उक्त राशि ट्रांसफर कर देता हूं।  जालसाज के झांसे में आए दिलीप ने अपने बैंक संबंधी बैंक खाते संबंधी जानकारी दे दी। जिसके बाद उसी प्रक्रिया से जालसाज ने दिलीप सिंह के खाते से पहली बार 20 और दूसरी बार में ₹40000 ऑनलाइन निकाल लिए। स्कूल संचालक और कर्मचारी ने  साइबर पुलिस ने शिकायत की। सायबर ने मामला दर्ज करने के बाद केस डायरी कोहेफिजा पुलिस को भेज दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *