भाजपा नेता के पिता को जालसाज ने लगाया 99 हजार का चूना

भाजपा नेता के पिता को जालसाज ने लगाया 99 हजार का चूना
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल

क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के नाम पर ओटापी मांगकर जालसाज ने  भाजपा नेता के पिता के  एकाउंट से 99 हजार रुपए ट्रांसफर कर लिए। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ जालसाजी का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक रचना नगर निवासी विकास कुमार भाजपा नेता है। जिनके पिता के पास 26 अक्टूबर को एक व्यक्ति ने उन्हें फोन किया और खुद को एसबीआई की क्रेडिट कार्ड शाखा का अधिकारी बताया। फोन करने वाले ने उनके क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने के लिए मोबाइल पर आया हुआ ओटीपी बताने का बोला। पीड़ित ने उससे कहा कि पहले भी बैंक द्वारा उनके क्रेडिट कार्ड पर गलत चार्ज लगाया जा चुका है, जिस पर फोन करने वाले ने कहा कि वह भी ठीक करवा दिया जाएगा। जालसाज के झांसे में आकर उन्होंने ओटीपी बता दिया, जिसके बाद उनके क्रेडिट कार्ड से कुल 99 हजार रुपये कट गए। पुलिस अज्ञात आरोपी की तलाश कर रही है।
————

 

जालसाज महिला ने ने पर्सनल लोन का झांसा देकर  एक युवक से साढे़ 9 हजार रूपए ठग लिए। पुलिस ने  अज्ञात महिला जालसाजों के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज किया है।
पुलिस के अनुसार हथाईखेड़ा निवासी रघुनाथ यदुवंशी (47)  प्रायवेट काम करते हैं। कुछ समय पहले उन्होंने पर्सनल लोन की जानकारी आनलाइन प्राप्त की थी। गत 14 सितंबर को अंजली नामक महिला का उनके पास फोन आया और पर्सनल लोन के बारे में बात की। रघुनाथ ने लोन लेने की इच्छा जाहिर की तो अंजली ने उन्हें एक फार्म भेजा, जिसे भरकर उन्होंने वॉट्सएप के माध्यम से भेज दिया। अगले दिन उनके पास लोन का एप्रूवल लेटर पहुंचा और अर्चना नामक महिला ने रजिस्ट्रेशन के नाम पर ढाई हजार रुपये जमा करने का बोला। रघुनाथ ने बताए गए एकाउंट में ढाई हजार रुपये जमा कर दिए, जिसकी उन्हें रसीद भी दी गई। उसके बाद वाणी नामक महिला ने 10 हजार रुपये और जमा करने की बात कही, जिसे लोन के साथ रिफंड करने की जानकारी दी गई थी। इस पर रघुनाथ ने केवल 6 हजार रुपए जमा किए। उसके बाद महिला ने बताया कि एक हजार रुपये और जमा कर दें, बाकी तीन हजार रुपये कंपनी माफ कर देगी। यह सारे रुपये एक घंटे बाद लोन के साथ वापस कर दिए जाएंगे। रघुनाथ ने एक हजार और जमा कर दिए, लेकिन उसके बाद तीनों महिलाओं के फोन बंद हो गए। परेशान होकर उन्होंने इसकी शिकायत सायबर क्राइम में की, जिसके बाद पिपलानी पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *