खूदखोरों से त्रस्त होकर आत्महत्या करने वाले परिवार के मुखिया ने भी दम तोड़ा

खूदखोरों से त्रस्त होकर आत्महत्या करने वाले परिवार के मुखिया ने भी दम तोड़ा
Share on social media

Mp03.in संवाददाता भोपाल 

सूदखोरों से त्रस्त होकर गुरुवार की रात जहर पीने वाले जोशी परिवार के एक और सदस्‍य की शनिवार देर रात मौत हो गई। परिवार के मुखिया संजीव जोशी ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वहीं अस्‍पताल में इलाजरत उनकी पत्‍नी की स्‍थिति भी गंभीर बनी हुई है। इससे पहले शुक्रवार को उनकी पूर्वी (16) और मां नंदिनी (67) की मौत हो चुकी थी। वहीं शनिवार सुबह बड़ी बेटी ग्रीष्मा (21) ने भी दम तोड़ दिया था। संजीव को जैसे ही अपनी मां और बेटियों की मौत की भनक लगी थी, तब से उन्होंने आंखें नहीं खोली थी। डॉक्टरों का कहना है कि संजीव की पत्नी की भी हालत काफी खराब है।
सूदखोरों के दबाव में सवा करोड़ की संपत्ति 36 लाख में बेचने को मजबूर हुआ परिवार
सूदखोरों के दबाव में सवा करोड़ की पापर्टी 36 लाख रूपए में बेचने को मजबूर होने के बावजूद संजीव जोशी को समय नहीं दिया जा रहा था। इसी मजबूरी के चलते पूरे परिवार को आत्महत्या करने को मजबूर होना पड़ा था। पुलिस ने आरोपी सूदखोर महिलाओं को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर पीआर पर पूछताछ के लिए लिया है। मालूम होकि इस मामले में 294,306,34, सहित 3,4 कर्ज अधिनियम की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है।
पुलिस के अनुसार संजीव के करीबी दोस्त राकेश सिंह ने बताया कि अशोका गार्डन निवासी सूदखोर महिला बबली, पिंकी ने उन्हें इतना धमकाया कि उन्हें आनंद नगर वाला घर बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा। इसके लिए उन्होंने 36 लाख रुपए में घर का सौदा भी कर लिया था, लेकिन सूदखोर महिलाए वक्त देने को राजी नहीं हुए। आखिरकार, जहर खाकर जिंदगी खत्म कर लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। अकेले भोपाल में ही उनके पास सवा करोड़ से अधिक की प्रॉपर्टी है।

क्या था मामला 

न्यू अशोक विहार कॉलोनी आनंद नगर निवासी  47 साल के संजीव जोशी ऑटो पार्ट्स कारोबार करते हैं। गुरुवार को घर के अंदर संजीव उनकी 67 वर्षीय मां नंदनी जोशी, 45 साल की पत्नी अर्चना, 19 साल की बड़ी बेटी ग्रिश्मा जोशी और 16 साल की छोटी बेटी पूर्वी जोशी बेसुध पड़ी थी। सभी को पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे पूर्वी ने दम तोड़ दिया। कुछ देर बाद नंदनी की भी सांसें टूट गईं। शनिवार को बड़ी बेटी ग्रिष्मा ने भी दम तोड़ दिया। सुसाइड नोट में महिलाओं की सूदखोर गैंग द्वारा खुदकुशी के लिए मजबूर करने की बात लिखी थी। इसी आधार पर पुलिस ने बब्ली दुबे उसकी बेटी रानी सहित उर्मिला और प्रमिला नाम की दो सगी बहनों को हिरासत में ले लिया है। वहीं राजू राय,लक्ष्मी राय बागसेवनिया के संतोष चौकसे,बब्ली गौर और उसके बेटे निवासी अशोका गार्डन की तलाश की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने दिए कार्रवाई के निर्देश

मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सूदखोरों-साहूकारों के मनमाना ब्याज लेने से घटित भोपाल की घटना ह्रदय विदारक और असहनीय है। संजीव जोशी की मां और दोनों बेटियों की मौत होने की सूचना है। सीएम ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अवैध तरीके से सूदखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सूदखोरों की गतिविधियों पर निगरानी रखी जाएगी। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आपात बैठक बुलाई थी। चौहान ने साहूकारी अधिनियम और अनुसूचित जाति ऋण विनियम प्रावधानों पर भी चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *