दिल्ली में बैठकर स्टॉक मार्केट मे इंवेस्ट के नाम जालसाजी करने वाले दो आरोपी चढ़े सायबर पुलिस के हत्थे!

दिल्ली में बैठकर स्टॉक मार्केट मे इंवेस्ट के नाम जालसाजी करने वाले दो आरोपी चढ़े सायबर पुलिस के हत्थे!
Share on social media
 इंवेस्टमेंट कराने के नाम पर लिंक भेजकर ठगी 
 आरोपियो ने अबतक लाखो रूपयो की ठगी को अंजाम दिया 
 आरोपियो के खातों मे लगभग 10 लाख रुपये फ्रीज कराए 
 सीफूड बिजनेस की आड मे आरोपी करते है खातो का आदान प्रदान ।  

mp03.in संवाददाता भोपाल 

स्टॉक माकेट मे इवंस्टमेंट कराने के नाम पर ठगी करने वाले अन्तर्राज्जीय गिरोह का भोपाल सायबर पुलिस टीम ने किया पर्दाफाश किया है। सायबर टीम ने  स्टॉक मार्केट मे इंवेस्ट कराने के नाम पर 90,000 रूपए की जालसाजी करने वाले इस गिरोह के सदस्यों को नई दिल्ली  से गिरफ्तार किया गया है।
सायबर पुलिस के अनुसार आवेदिका की शिकायत जांच हेतु प्राप्त हुआ। जिसमें उन्होने बताया कि अज्ञात व्यक्ति ने idplr.com के नाम से लिंक भेजा जिसमें इंवेस्टमेंट करने की बात लिखी हुई थी।  आवेदिका ने अपनी आईडी बनाई फिर आरोपियो द्वारा अज्ञात मोबाईल नम्वर से आवेदिका के व्हॉटसएप नम्बर पर सम्पर्क किया। सामने वाले ने  अपना नाम एलिस बताया एवं व्हॉटसएप नम्बर पर एक ‍वेबसाईट लिंक भेजा, जिस पर आवेदिका ने अपनी प्रोफाईल बनाई तथा एलिस ने इन्वेस्ट करने का बताया जिस पर आवेदिका से प्रथम बार में पृथक पृथक रूप से 21,000/- रूपये का इन्वेस्ट कराया, जिसमें से आवेदिका को 13,000/- रूपये मिले। जबकि 2300/-रूपये चार्ज के रूप में काट लिया जाना बताया । जिसके बाद आवेदिका से पृथक पृथक रूप से 90,000/- रूपये का इन्वेस्ट करने का कहा एवं अमाउंट upi के माध्यम ट्रांसफर कराया, लेकिन उसके बाद कोई रूपये वापस नही मिले। बैंक से प्राप्त जानकारी के आधार पर बैंक खातों के उपयोगकर्ता एवं मोबाईल नम्बर के उपयोगकर्ताओं के विरूद्ध अपराध क्र. 281/2021 धारा 420 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया । सायबर टीम द्वारा अपराध कायमी के पश्चात तकनीकी एनालिसिस के आधार पर त्वरित कार्यवाही कर नई दिल्ली  से 2 आरोपीयों

गोविंदराम उर्फ रोहित और  रजनिश यादव को गिरफ्तार किया गया हैं । आरोपियों से प्रकरण में प्रयुक्त मोबाईल फोन-04 एटीएम कार्ड-,14 बैंक पास बुक-03  बैंक चैकबुक-07, को जप्त किया गया है ।
*तरीका वारदात :
 आरोपीगण स्टॉक मार्केट मे इंवेस्टमेंट कराने के नाम पर idplr.com के नाम से लिंक भेजते है एवं उस लिंक पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए बोलते है फिर रजिस्ट्रशन होने के बाद उसमे  इंवेस्टमेंट करने का बोलते है फिर व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क करते है एवं तरह-तरह के प्रलोभन देकर राशि अपने खातो मे डलवा लेते है आरोपीगणो द्वारा फ्रॉड के लिए करेंट एवं वर्चुअल खातो का इस्तेमाल किया जाता है जिससे किसी को शक भी न हो ,आरोपी रोहित की सीफूड की फ्रेंचाईजी है जिसके जरिए  इसकी ऑनलाईन पहचान के अन्य आरोपी विक्की से हुई विक्की भी सीफूड का बिजनेस करता है पहचान के दौरान विक्की ने आरोपी रोहित से फ्रॉड के लिए खाताधारको के खाते मंगवाये जिसकी व्यवस्था रोहित द्वारा की गई जो ऑनलाईन खाते की डिटेल व्हाट्सएप के माध्यम से विक्की को भेजता था । रोहित द्वारा अभी तक लगभग 60-65 खाते विक्की को भेजे जा चुके है जिससे ये लोग खातो का प्रयोग फ्रॉड के लिए कर रहे है  बैंको से मिली जानकारी के अनुसार आरोपीगणो द्वारा अभी तक लाखों रूपयो की ठगी की जा चुकी है। इनके द्वारा अभी तक अधिकतर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगण, हैदरबाद, गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, केरल, प.बंगाल, तेलंगना, दिल्ली मे भी इस प्रकार की घटना कारित करके धोखाधडी के साक्ष्य सामने आये है।
इनकी सराहनीय भूमिका 
आरोपियों की गिरफ्तारी में एसआई देवेंद्र साहू, , सउनि. चिन्ना राव, आर. आदित्य साहू ,आर जितेन्द्र मेहरा, आर.अजीत राव,  की अहम भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *