कस्टडी से फरार शातिर चोर को शाहजहांनाबाद पुलिस ने इंदौर से दबोचा

कस्टडी से फरार शातिर चोर को शाहजहांनाबाद पुलिस ने इंदौर से दबोचा
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

शाहजहांनाबाद इलाके में कस्टडी से फरार हुए शातिर चोर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।  आरोपी भाग कर इंदौर पहुंच गया था। जहां से वह किसी दूसरे शहर भागने की फिराक में था। पुलिस टीम आरोपी को लेकर भोपाल आ गई। शनिवार को उसे कोर्ट पेश किया गया।
थाना प्रभारी सौरभी पांडे ने बताया कि शुक्रवार को  मोहरा गेट के पास से पुलिस जीप से हथकड़ी खिसका कर भागे आरोपी दीपक रावत पुत्र जगदीश(21) को पुलिस ने देर रात इंदौर के सरबटे बस स्टेण्ड से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पुलिस अभिरक्षा से भागने के बाद सीधा इंदौर पहुंचा था। यहां से वह किसी दूसरे शहर भागे की फिराक में था। आज पुलिस आरोपी को कोर्ट में पेश करेगी। इससे पहले आरोपी के तीनों साथियों को कोर्ट में पेश कर कल ही जेल दाखिल करा दिया गया है।
क्या है मामला-
आरोपी दीपक रावत और उसके दो साथियों को शाहजहांनाबाद पुलिस ने फरवरी माह में बीडीए कॉलोनी में हुई एक चोरी के मामले में गिरफ्तार किया था। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने चोरी की वारदात कबूल की थी और चोरी का माल इंदौर के एक सुनार को बेचना बताया था। इसके बाद पुलिस ने सुनार को गिरफ्तार कर उसके पास से चोरी का खरीदा हुआ माल भी बरामद कर लिया था। कल आरक्षक विनय और कल्याण आरोपी दीपक और उसके साथियों को लेकर जिला अस्पताल मेडिकल कराने गए थे। जहां से लौटते वक्त आरोपी दीपक तीन मोहरा गेट के पास हाथ से हथकड़ी खिसका कर चलती जीप से कूछ कर फरार हो गया था। इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया था। वहीं दोनों पुलिसकर्मियों को देर शाम सस्पेंड कर मामले की जांच शुरू कर दी थी।
आरोपी और उसके साथियों पर आगजनी का केस दर्ज
कोहेफिजा थाना पुलिस ने पुलिस अभिरक्षा से भाग आरोपी दीपक रावत और उसके साथियों के खिलाफ आगजनी का मामला दर्ज किया है। एसआई प्रदीप गुर्जर ने बताया कि आरोपी दीपक रावत शातिर चोर है। उसकी शादी दो साल पहले पंचवटी कॉलोनी फेस-टू में रहने वाली सीमा से हुई थी। शादी के बाद से ही सीमा का दीपक से विवाद होता था। इसी कारण वह मई में अपनी मां के पास रहने चली गई। इसी बीच 14 मई को विनोद अपनी पत्नी को लेने ससुराल पहुंचा। जहां पर सास ने उसे भेजने से इंकार कर दिया था। इसी बात से नाराज होकर दीपक ने अपने साथी दिलीप, विनोद और आनंद के साथ मिलकर सास की झुग्गी में आग लगा दी थी। घटना के बाद उसकी पत्नी ने थाने में लिखित शिकायत की थी। जिसकी जांच के बाद पुलिस ने कल आरोपियों के खिलाफ आगजनी का केस दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.