मंगेतर के घर में घुसकर उसके भाई की गोली मारकर हत्या करने वाला एसएएफ जवान जेल भेजा गया

मंगेतर के घर में घुसकर उसके भाई की गोली मारकर हत्या करने वाला एसएएफ जवान जेल भेजा गया
Share on social media
सनकी एसएएफ जवान की मानसिक स्थिति का पता लगाने में जुटी पुलिस
एसएएफ जवान की हरकतें से पहले भी टूट चुकी थी शादी
– परिजनों के व्यवहार से दुखी भाभी भी रह रही है मायके में
mp03.in  संवाददाता भोपाल 
मंगेतर के घर में घुसकर साले की हत्या कर सास को गोली मारकर जख्मी करने वाले एसएएफ जवान को गुरुवार को न्यायालय पेश कर दिया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
अब पुलिस आरोपी एसएएफ जवान के  संबंध में भी जानकारी जुटाना शुरू कर दिया है। अभी तक पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार अजीत सिंह की नौकरी एसएएफ में लगने के बाद उसकी एक अन्य लड़की से शादी तय हुई थी। लेकिन अजीत सिंह के व्यवहार और शादी से पहले ही लड़की का पीछा कर मिलना, लगातार अपने हिसाब से चालाने की कोशिश और बंदिशे लगाने के कारण नहीं हो सकी थी। बताया जाता है कि लड़की और उसके परिजनों ने ही अजीत के साथ रिश्ता करने से मना कर दिया था। वहीं जिस युवती से उसकी शादी होने वाली थी, उसने पुलिस को बताया कि अजीत सिंह के परिवार वालों का भी व्यवहार ठीक नहीं है। अजीत सिंह की भाभी भी परिवार वालों की हरकतों और गलत व्यवहार के कारण अधिकांश समय अपने मायके में ही रह रही है।
मानसिक स्थिति की जानकारी जुटा रही पुलिस 
आरोपी युवक की मानसिक स्थिति की जानकारी पुलिस पता कर रही है। शाहपुरा पुलिस ने एसएएफ जवान की बटालियन और उसके ड्यूटी स्थल में तैनात अधिकारी से उसके व्यवहार, मानसिक स्थिति की पूरी जानकारी मांगी है। पुलिस अब सनकी आशिक बने एसएएफ जवान के साथ पदस्थ रहे अन्य जवानों से पूछताछ कर उसके व्यवहार के संबंध में जानकारी जुटाएगी। पुलिस ऐसा इसलिए भी कर रही है, क्योंकि जिस युवती से उसकी शादी तय थी, वह युवती और उसके परिजनों ने पुलिस के समक्ष आरोप लगाया है कि जवान अजीत सिंह चौहान शुरू से सिरसिरा, सनकी टाइप का था, लेकिन उसके परिजनों ने शादी तय करते वक्त यह बात उससे छिपाई थी।
इसलिए हो रही आरोपों की पुष्टि
युवती ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि उसकी शादी जीवनसाथी डॉट कॉम से मिले प्रस्ताव के जरिए हुई थी। जिस दिन एसएएफ जवान की तरफ से प्रस्ताव मिला था, उसके पांच दिन बाद ही आरोपी के परिजन लड़की के घर पहुंचे और शादी तय करके चले गए। शादी तय होने से पहले अजीत सिंह को उसके परिजनों ने लड़की और उसके परिजनों से मिलने नहीं दिया था। शादी तय होने के जल्द बाद ही अक्टूबर 2020 में दबाव बनाकर उसकी सगाई थी कर दी। सगाई के पहले ही आरोपी ने मंगेतर के लिए लाया लहंगा, मामूली विवाद के बाद बीच सड़क पर जला दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *