दो महिलाओं के गले से सोने की चैन लूटने वाले लुटेरे चढ़े जबलपुर के हत्थे !

दो महिलाओं के गले से सोने की चैन लूटने वाले  लुटेरे चढ़े जबलपुर के हत्थे !
Share on social media

लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को जबलपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

mp03.in संवाददाता भोपाल /जबलपुर

जबलपुर में एक ही दिन में दो लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले शातिर लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से लूटा गया माल भी बरामद कर लिया गया है।

जबलपुर पुलिस के अनुसार थाना अधारताल में 23 फरवरी की रात लगभग 8:30 बजे रानू त्रिपाठी उम्र 60 वर्ष निवासी इन्द्रलोक कालोनी पटैल नगर महाराजपुर ने रिपेार्ट दर्ज कराई कि 23 फरवरी की शाम लगभग 5:00 बजे घर से सब्जी लेने महाराजपुर के लिये जैसे ही घर से निकली दो अज्ञात लड़के मुंह में कपड़ा बांधे मोटर सायकिल में बैठे थे जिन्होंने पीछे से उसके गले में झपट्टा मारकर सोने की चैन जिसमें लॉकिट लगा है लगभग एक तोले की लेकर भाग गए। रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। जबकि थाना पनागर में 23 फरवरी की रात लगभग 8:45 बजे श्रीमती सुधा लोधी उम्र 34 वर्ष निवासी आजाद वार्ड पनागर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि 23 फरवरी को वह अपनी छोटी बहन निशा पटैल तथा देवर की बेटी पूनम पटैल तथा बहन की बेटी आशी के साथ पनागर बजार से सामान खरीदकर अभिमन्यू चैक के रास्ते अपने घर आजाद वार्ड सभी लोगों के साथ पैदल जा रही थी। शाम लगभग 6:10 बजे बजरिया जैन मंदिर के पास बद्री कोरी के घर सामने रोड़ पर पहुची तो वहां पर दो लड़के मोटर सायकिल सहित खडे थे, जैसे ही हम उनके पास से गुजरे तभी पतले वाले लड़के ने उसके गले में पहना सोने का मंगलसूत्र पुराना जिसमें एक पेंडल एवं चार सोने की गुरिया लगी थी, उसके गले से खींच लिया और मंगलसूत्र लेकर मोटर सायकल से अभिमन्यू चैक तरफ भाग गये। रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर कर विवेचना में लिया गया। दोनों ही वारदातों को गंभीरता से लेते हुए एसपी जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा के आदेशानुसार शहर/देहात में नाकेबंदी करायी गयी तथा घटित हुई घटना से वायरलैस सैट के माध्यम से सभी थाना प्रभारियों एवं चीता, पैट्रोलिंग, एवं एफ.आर.व्ही मोबाईलों को बताया गया, कन्ट्रोलरूम के माध्यम से प्रमुख चैराहों पर लगे सी.सी.टी.व्ही कैमरे से एवं घटना स्थल के आस-पास लगे कैमरों से फुटेज खंगाले जाकर बाईक सवार लुटेरों को चिन्हित करते हुये बाईक सवार लुटेरों की पतासाजी के लिए एडिशनल एसपी शहर दक्षिण/अपराध गोपाल खांडेल, एडिशनल एसपी शहर उत्तर संजय कुमार अग्रवाल तथा सीएसपी अधारताल अशोक कुमार तिवारी के मार्ग दर्शन एवं थाना प्रभारी अधारताल शैलेष मिश्रा के नेतृत्व मे थाना अधारताल एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर लगायी गयी।

      आरोपियों की पतासाजी के दौरान दो मार्च की रात क्राईम ब्रांच को सूचना मिली कि दो लड़के जो पूर्व में भी लूट के अपराध में पकडे जा चुके है दोनों का हुलिया पनागर तथा अधारताल थाना क्षेत्र मे घटित लूट की वारदात में मिले सीसीटीवी फुटेज से मिलता जुलता है, उनमें से समर साहू नाम का लडका हत्या के अपराध में आजीवन करावास से दंण्डित है जो जमानत पर रिहा है। मोटर सायकिल  डिस्कवर से शोभापुर ब्रिज के नीचे से होते हये व्हीकल रिछाई होकर रीवा भागने की फिराक में है। सूचना पर थाना अधारताल तथा क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम द्वारा दबिश देते हुये मुखबिर के बतायी मोटर सायकिल में जा रहे दो व्यक्तियों को पकड़ा। पकड़े गए व्‍यक्तियों से नाम पता पूछने पर दोनो ने अपने नाम समर उर्फ सुरेन्द्र उर्फ सुरेश पिता स्व. मोतीलाल साहू उम्र 32 वर्ष एवं विनोद उर्फ पप्पू साहू पिता स्व. मोतीलाल साहू उम्र 34 वर्ष दोनों निवासी लालमाटी चांदमारी तलैया घमापुर का होना बताया।  दोनों व्‍यक्तियों को थाने लाकर सघन पूछताछ की तो 23 फरवरी को अधारताल क्षेत्र मैत्री नगर महराजपुर एवं थाना पनागर अंतर्गत कमानिया के पास तथा वर्ष 2018 में विजय नगर क्षेत्र के महाराष्ट्र बैंक साई मंदिर के पास एवं कुछ दिन पूर्व त्रिमुर्ति नगर में अघोरीबाबा मंदिर के पास महिलाओं के गले से चेन एवं मंगलसूत्र खींचकर भागना स्वीकार किया। आरोपियों की निशादेही पर सोने की एक चेन लॉकेट लगी हुई, तीन लॉकेट, दो गुरिया एवं घटना में प्रयुक्त मोटर सायकिल जप्त करते हुये आरोपियों को प्रकरण में विधिवित गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। दोनों आरोपी शातिर अपराधी प्रवृत्ति के है आरोपी समर उर्फ सुरेश साहू के विरूद्ध थाना घमापुर मे हत्या सहित 6 अपराध एवं  विनोद उर्फ पप्पू साहू के विरूद्ध लूट सहित 10 अपराध शहर के विभिन्न थानों में पंजीबद्ध होकर मान्नीय न्यायालय मे विचाराधीन है।

इनकी सराहनीय भूमिका 

शातिर लुटेरों को गिरफ्तार करने मे थाना प्रभारी अधारताल शैलेष मिश्रा, उप निरीक्षक अनिल कुमार, भरत सिह, प्रधान आरक्षक संतोष पांडे, मोहन तिवारी, आरक्षक रुपेश,  विश्वजीत,  शुक्रभान,  मोहन सिह, पंकज सिंह, देवेन्द्र सिंह एवं क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक  रामसनेह, प्रधान आरक्षक  धनंजय सिह,  विजय शुक्ला,  राजेन्द्र बिलोहा, आरक्षक  बलजीत,  अजीत,  राजेश,  अनिल,  सत्यसेन,  अजय,  हरिशंकर,  मोहित, बीरबल,  बृजेन्द्र,  नितिन,  नीरज तथा सायबर सेल के  अमित पटेल की सराहनीय भूमिका है। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने टीम को नगद पुरूस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *