एक लाख पांच हजार रूपए की लूट का पुलिस ने महज 10 घंटों में किया पर्दाफाश

एक लाख पांच हजार रूपए की लूट का पुलिस ने महज 10 घंटों में किया पर्दाफाश
Share on social media
: कर्जदाराें से परेशान होकर किसान ने रची थी लूट की झूठी कहानी 
  mp03.in संवाददाता भोपाल 
नजीराबाद पुलिस ने किसान से एक लाख पांच हजार रूपए की कथित लूट का महज 10 घंटों में ही पर्दाफाश कर लिया है। फरियादी ने कर्जदारों से परेशान होकर लूट की झूठी कहानी रची थी।
पुलिस के अनुसार 21 जुलाई को द्वारकाधाम कोलानी महानीम चोराहा निवासी परमानंद मीणा पिता नेताराम मीणा ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि सिलेटी कलर की अल्टो कार के चालक व उसके दो साथियो द्वारा उससे  1,05,000 रूपए लूट लिए है। पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर  लूट का प्रकरण पंजीबद्ध कर अनुसंधान मे लिया गया।
मामले की गंभीरता को देखते एसपी नार्थ विजय खत्री,  एडिशनल एसपी दिनेश कौशल  घटना स्थल पर पहुंचे, जहां उन्होंने स्थल निरीक्षण व फरियादी से चर्चा के बाद  एसडीओपी केके वर्मा और थाना प्रभारी बीपी सिंह के नेतृत्व मे पृथक-पृथक  टीम बनाकर नरसिंहगढ, रूनाहा, रवाना किया। विवेचना के दौरान फरियादी के बयानों में घटना स्थल से नरसिंहगढ़ तक
 आवागमन के समय मे भिन्नता होने से फरियादी से पुनः पूछताछ की गई।जिसमें  पाया गया कि फरियादी ने पेतृक गांव निपानिया चेतन मे 11 बिसवा जमीन जयनारायण मीणा को रजिस्ट्री करवा दी व जमीन के 125000 रूपये प्राप्त किए। उसके बाद फरियादी ने उसमे से 20000 रूपये भगवानसिंह का कर्ज चुका दिया जिसकी पुष्ठी हुई। फरियादी द्वारा बताया गया घटना स्थल आम रोड होने जिसमे काफी आवागमन बना रहता है घटना समय शांम 5-6 बजे मे इस प्रकार की घटना होने की संभावना का संदेह व फरियादी द्वारा रास्ते मे आने जाने वालो को न बताना व घटना स्थल से आगे गांव मे भी किसी को न बताना एवं  12 घण्टे बाद थाने रिपोर्ट को आने आदि मे समानता नही पायी जाने से फरियादी के लडके रामबाबू को तलब किया जाकर पृथक-पृथक पूछताछ की गई। घटना के संबंध में दोनाें बयानों विरोधाभास होने पर फरियादी से हिकमत-अमली व सख्ती से लगातार पूछताछ पर फरियादी व उसके लडके द्वारा मनगढंत कहानी बनाकर रूपये लूटने की झूठी रिपोर्ट करना पाई गई। फरियादी के द्वारा अपने घर मे रखे पैसे निकाल पेश करने पर जप्त कर लिए गए।
ढाई लाख का कर्ज था
  फरियादी परमानंद बेल्डिंग का काम करता है नया मकान बनाने व ट्रेक्टर की किस्त के पैसे बेल्डिंग दुकान से प्राप्त पैसो से पारिवारिक खर्च पूरा न होने के कारण फरियादी परमानंद के उपर दो से ढाई लाख रूपये का कर्जा हो गया था।  इसलिये फरियादी परमानंद द्वारा अपने लडके रामबाबू के साथ मिलकर मनगंढत कहानी बनाते हुये रूपये लूटने की झूठी रिपोर्ट की गई थी जिससे कर्जा मांगने वाले कुछ दिनो के लिये शांत हो जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *