सदर मंजिल के सामने पुरानी इमारत का हिस्सा गिरा

सदर मंजिल के सामने पुरानी इमारत का हिस्सा गिरा
Share on social media
mp03.in संवाददाता भोपाल
भारी बारिश के चलते सोमवार सुबह सदर मंजिल के सामने स्थित दो मंजिला ऐतिहासित इमारत का बड़ा हिस्सा भरभराकर गिर गया। हालांकि  सुबह इमारत खाली होने से कोई जनहानि नहीं हुई, लेकिन स्मार्ट पार्किंग में खड़ी आधा दर्जन कारें क्षतिग्रस्त हो गईं हैं। नगर निगम का अमला अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचा, लेकिन इमारत को पूरा गिराना है या नहीं इस संबंध में कोई निर्णय नहीं ले सका। दोपहर तक निगम आयुक्त और कलेक्टर भी मौके पर पहुंचने वाले हैं। उक्त इमारत सदर मंजिल के ठीक सामने स्मार्ट पार्किंग से लगी हुई है। दो मंजिला इमारत सौ साल से ऊपर की होने के बाद उसे हेरिटेज घोषित किया जा चुका है। भवन के मरम्मत और रखरखाव की पूरी जिम्मेदारी पुरातत्व संग्रहालय विभाग की है। मालूम हो कि उक्त भवन को नवाबीशासनकाल में 12 दरी कहा जाता था, भवन का जो हिस्सा आज भराभरा कर गिरा है, वहां नवाबी शासनकाल में दरबार के समय वहां हाथी और घोड़े बांधे जाते थे।
नगर निगम जोन-२ के जोनल अधिकारी ने बताया कि भवन का काफी बड़ा हिस्सा पूरी तरह से जमीदोंज हो गया है। भवन खाली था, इसलिए कोई नुकसान नहीं हुआ है। भवन भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीन है। इसलिए क्षतिग्रस्त हिस्से को गिराया जाएगा या उसका मरम्मत होगा, इस संबंध में नगर निगम कोई निर्णय नहीं ले सकता। संबंधित विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई है। निगम आयुक्त, कलेक्टर और पुरातत्व विभाग के अधिकारी स्थिति का जायजा लेंगे, इसके बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।
पहले भी गिर चुका है संरक्षित इमारत का छज्जा
भारी बारिश में पहली बार संरक्षित इमारत गिरी है, ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। इसके पहले भी कई बाद सदर मंजिल से सटी ऐतिहासिक घोषित इमारतों के छज्जे और कुछ हिस्से गिर चुके हैं, जिन्हें पुरातत्व विभाग की देखरेख में मरम्मत की गई थी। हालांकि आज तो इमारत का बड़ा हिस्सा ही गिर गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *