नवोदय स्कूल के एलडीसी ने सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली

नवोदय स्कूल के एलडीसी ने सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल।

रातीबढ़ स्थित नवोदय स्कूल कैंपस में बने स्टॉफ क्वार्टर में रहने वाले एलडीसी (लोवर डिवीजनल क्लर्क) ने बुधवार को सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली। हालत बिगड़ने पर परिजनों ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया था। जहां डाक्टरों ने चेक करने के बाद में उन्हें मृत घोषित कर दिया। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है। खुदकुशी के सही कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस को घटना स्थल से फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।
टीआई सुधेश तिवारी के अनुसार नवोदय स्कूल कैंपस निवासी रितेश पुत्र जीवनलाल (41) एलडीसी कार्यरत थे। उनकी पत्नी गृहणी हैं। उनका एक बेटा और एक बेटी है, दोनों स्कूली छात्र हैं। पत्नी ने पुलिस को बताया कि रितेश बुधवार सुबह कार्यालय गए थे। वहां उन्होंने कार्य किया, करीब 11 बजे घर लौटे और पौने बारा बजे करीब उन्होंने सल्फास खा लिया। उल्टियां करता देखने के बाद में पत्नी ने कैंपस में रहने वाले अन्य कर्मचारियों की मदद से उन्हें हजेला अस्पताल पहुंचाया था। जहां कुछ घंटे चले उपचार के बाद शाम को 6 बजे उनकी मौत हो गई। सुसाइड नोट नहीं मिलने से मौत के सही कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।

दो दिनों से गुमसुम था रितेश 

पत्नी ने पुलिस को बताया कि रितेश बीते दो दिनों से गुमसुम थे। अधिक सो रहे थे, उन्होंने यह कदम क्यों उठाया इस बात का खुलासा नहीं हो सका है। वहीं  रितेश के सहकर्मियों से पुलिस पूछताछ कर रही है।  साथियों ने पुलिस को बताया कि हर रोज की तरह बुधवार को भी रितेश कार्यालय आए थे, साथियों के साथ चाय पी काम किया और बातचीत की। 11 बजे अचानक तबीयत बिगडऩे की बात कहकर आफिस से निकल गए। जिसके बाद उन्होंने आत्महत्या कर ली। पत्नी के डिटेल बयान फिलहाल दर्ज नहीं किए जा सके हैं।
– प्लंबर ने फांसी लगाकर दी जान
गौतम नगर थाना पुलिस के अनुसार  52 वर्षीय जगदीश पिता मोहनलाल कुशवाह पूर्वी निशातपुरा के निवासी थे और प्लंबर थे। विगत वर्ष उन्होंने गला काटकर आत्महत्या की काेशिश की थी।  हालांकि उस समय उनकी जान बच गई थी। उनके परिजनों ने पुलिस को बताया कि जगदीश बीते कई दिनों से डिप्रेशन में थे। उनकी आस पड़ोस व रिश्तेदारों में किसी से बात नहीं होती थी। बुधवार को जगदीश ने घर में फांसी लगाकर जान दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *