पुरानी जेल के क्वॉरेंटाइन सेंटर से केदी फरार !

पुरानी जेल के क्वॉरेंटाइन सेंटर से केदी फरार !
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल

अरेरा हिल्स स्थित पुरानी जेल से मंगलवार की सुबह एक केदी भाग निकला। तलाश करने के बाद भी जब उसका कुछ पता नहीं चला तो जेल अधिकारियों और पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने जेल प्रहरी की रिपोर्ट पर बंदी के खिलाफ हिरासत से भागने का केस दर्ज कर लिया है। इधर जेल प्रबंधन ने प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने वाले दो प्रहरियों को निलंबित कर दिया है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि किस प्रकार की लापरवाही के चलते बंदी जेल से फरार होने में सफल रहा।
जेल उप अधीक्षक पीडी श्रीवास्तव के अनुसार केदी  ग्राम मेगराकला तहसील बैरसिया निवासी लक्ष्मण सिंह राजपूत पुत्र शेरसिंह राजपूत (32) को  चेक बाउंस के मामले में कोर्ट ने उसे गत 4 नवंबर 2020 को एक वर्ष के सश्रम कारावास और अर्थदंड की सजा सुनाई थी। उसके बाद से लक्ष्मण केंद्रीय जेल में सजा काट रहा था। आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी और चेक बाउंस के छह अन्य मामले भी लंबित चल रहे हैं। इन्हीं मामलों में कुछ दिनों पहले उसे पेशी पर केंद्रीय जेल से बाहर लाया गया था। उसके बाद केंद्रीय जेल पहुंचाने से पहले जिला जेल स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। मंगलवार सुबह करीब ग्यारह बजे रोल कॉल के दौरान बंदियों की गिनती की गई तो एक बंदी लक्ष्मण गायब मिला। तलाश करने पर जब उसका कोई पता नहीं चला तो जेल प्रबंधन के निर्देश पर प्रहरी दिनेश कुमार मेहरा ने अरेरा हिल्स थाने पहुंचकर उसके हिरासत से भागने की रिपोर्ट दर्ज कराई।
बिल्डिंग की छत और पेड़ के सहारे भागने का अनुमान
बंदी किसी प्रकार जेल से बाहर भाग निकला, इसकी जांच की जा रही है, लेकिन अनुमान है कि वह किसी प्रकार ईवीएम वाली बिल्डिंग की छत पर पहुंचने में कामयाब रहा होगा। इसके बाद पेड़ों के सहारे बाहर कूदकर भागा होगा। उप जेल अधीक्षक श्रीवास्तव ने बताया कि इस मामले में प्रथम दृष्टया लापरवाली बरतने पर वाले प्रहरी पानसिंह जामोद और महेंद्र सरेयाम को निलंबित किया गया है।

एक साल की सजा और अर्थदंड मिला था

फरार केदी लक्ष्मण सिंह राजपूत पिता शेर सिंह राजपूत (32) को एक मामले में 4 नवंबर 2020 में 1 साल की सश्रम कारावास और कुल 13 लाख 13 हजार 435 रुपए का अर्थदंड लगाने की सजा दी गई थी। इसी मामले में करीब दो सप्ताह पहले पेशी पर पहुंचने पर पुलिस ने उसे अन्य मामलों में गिरफ्तार कर लिया। लक्ष्मण पर धोखाधड़ी एवं चेक बाउंस के कुल 6 मामले लंबित हैं। पुलिस ने रिमांड लेने के बाद करीब 15 दिन के पहले अरेरा हिल्स स्थित भोपाल की पुरानी जेल में दाखिल कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *