कियोस्क से पैसे ट्रांसफर कराने के बाद फरार होने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश

कियोस्क से पैसे ट्रांसफर कराने के बाद फरार होने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश
Share on social media
 मनी ट्रांसफऱ करने बाले दुकानदारो को बनाते थे अपना टारगेट ।
 पैसे ट्रांसफर होने के बाद कॉल करने का बहाना बनाकर दुकानदार का ध्यान भटकाते थे
 एक साथी दुकान के बाहर गाडी पर बैठकर करता था इंतजार ।
 घटना कारित होते ही आरोपी तेजी से गाडी से फरार हो जाते थे ।
 आरोपी कैमरे से बचने के लिए आने.जाने के लिए पतली गलियोध्रास्तो का इस्तेमाल करते थे ।
 आरोपियो द्वारा इस प्रकार की घटना लगभग 100 अन्य लोगो के साथ की गई है ।

mp03.in संवाददाता भोपाल 

सायबर क्राईम ब्रान्च जिला भोपाल की टीम द्वारा मनी ट्रांसफर कराने के बाद बिना पैसे दिए भागने बाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के  को भोपाल (म.प्र.) से गिरफ्तार किया गया है। गिरोह के दो सदस्यों को सायबर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
सायबर पुलिस के अनुसार अमित यादव एमपीऑनलाईन की कियोस्क का संचालन करते हैं। जहां से वह पोर्टल से मनी ट्रांसफर का कार्य करते हैं।  12 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे उनकी दुकान में दो अज्ञात युवक आए।  एक युवक बाहन चला गया, जबकि दूसरा  दुकान के अंदर था। उसने कहा कि उसे 15 हजार रूपए एक खाते मे ट्रांसफर कराना है। युवक ने अपनी जेब से पैसे निकालकर गिनकर सामने टेबल पर रख दिए। अमित ने पैसे देखने के बाद संबंधित खाते में 15 हजार रूपए ट्रांसफर कर दिए। अमित पैसे ट्रांसफर करने के बाद चार्जर उठाने के लिए जैसे ही नीचे झुके, सामने खड़ा युवक टेबल से पैसे लेकर भाग निकला।जोकि बाहर एक्टिवा स्टार्ट करके खडे़ साथी के साथ पीछे बैठकर फरार हो गया।  अमित ने इस संबंध में आवेदक द्वारा कार्यालय सायबर क्राईम भोपाल में आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया है । जिसकी आवेदन जांच व तकनीकी जानकारी के आधार पर आरोपी मोबाईल नंबर एवं खाता के उपयोगकर्ता के विरूद्ध अपराध धारा 451,379,420 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया ।सायबर  टीम एवं थाना हनुमानगंज के सहयोग से  अपराध कायमी के पश्चात तकनीकी एनालिसिस के आधार पर त्वरित कार्यवाही कर नाला सोपारा मुंबई निवासी राजेश नागवानी उर्फ राजेश छू और उसके साथी नाला सोपारा मुंबई निवासी  दीपेश इंद्रपाल सतनामी को गिरफ्तार किया गया हैं । आरोपियों से प्रकरण में प्रयुक्त  एण्ड्रोईड मोबाईल फोन 1 नग एवं बैंक एटीएम कार्ड 2 नग एवं 2 सिमकार्ड  को जप्त किया गया है ।
तरीका वारदात-
आरोपीगण सबसे पहले कियोस्क मनी ट्रांसफर की दुकान को तलाश करते थे फिर दोनो व्यक्ति दुकान के अंदर जाकर देखते थे फिर एक व्यक्ति वापस आकर अपनी गाडी पर बैठ जाता था और एक दुकान के अंदर पैसे ट्रांसफर कराता था पैस ट्रांसफर होने के बाद आरोपी कन्फर्म करने के बहाने मोबाईल पर कॉल का बहाना बनाता जिससे दुकानबाले का ध्यान भटक जाये जैसे ही दुकानबाला कही और देखने लगता आरोपी बिना पैसे दिए दौड लगाकर गाडी पर बैठकर तेजी से भाग जाते है । आरोपी राजेश नागवानी पूर्व मे भोपाल मे सट्टा खिलाता था आरोपी राजेश के भोपाल मे कई स्थाई वारंट पेंडिंग है आरोपियो द्वारा इस प्रकार की घटना उत्तर प्रदेशए महाराष्ट्र एवं भोपाल मे करोंद निशातपुरा एवं ऐशबाग क्षेत्र मे भी की गई है ।
इनकी अहम भूमिका 
 उनि देवेन्द्र साहू, उनि अरविंद सिंह जाट, सउनि चिन्ना राव, हवलदार मुरली , आरक्षक जितेन्द्र मेहरा, अजीत राव,  आदित्य साहू , सौरभ एवं आरक्षक पुष्पेंद्र  की अहम भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *