प्रदेश के काेरोना संक्रमण आंकड़ों में अकेले इंदौर में 28 फीसद और भोपाल में 21 फीसद

प्रदेश के काेरोना संक्रमण आंकड़ों में अकेले इंदौर में 28 फीसद और भोपाल में 21 फीसद
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल/इंदौर 

इंदौर व भोपाल समेत प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। प्रदेश में सोमवार को 2323 पॉजिटिव केस मिले हैं। प्रदेश में इस समय एक्टिव केस 965 हैं। अबतक करीब 9 मौतें रिकॉर्ड हुई हैं। प्रदेश में अभी कोरोना संक्रमण का पॉजिटिविटी रेट 8.2 प्रतिशत है। यह औसत गत 7 दिवस के आधार पर निकाला जाता है। प्रदेश के दो प्रमुख शहरों की बात करें तो इंदौर में प्रदेश के कुल केसों का 28% और भोपाल में 21% है।

बुधवार को कोरोना संक्रमण को लेकर मुख्यमंत्री श‍िवराज सिंह चौहान ने संभागायुक्‍त और पुलिस महान‍िरीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई। जिसमें संक्रमण से अध‍िक प्रभावित जिलों की सीमाएं सील करने का निर्णय लिया गया। जल संसाधन मंत्री तुलसी स‍िलावट ने बताया क‍ि में इन ज‍िलों को सील करने के न‍िर्देश द‍िए गए हैं ताकि संक्रमण न फैल सके। उन्‍होंने बताया कि सीमाएं सील करने से लोगों की आवाजाही रुकेगी और संक्रमण नहीं फैलेगा। फिलहाल, खराब हालातों के बाद भी मध्‍य प्रदेश में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने  इंदौर , उज्जैन कलेक्टर को फ्री हैंड दिया और कहा कि न‍ियम न मानने वालों से सख्ती से निपटना होगा।

बडे़ शहरों में प्रतिदिन 50 से ज्यादा केस 

प्रदेश के सात जिलों इंदौर, भोपाल, जबलपुर, रतलाम, खरगौन, बैतूल और ग्वालियर में 50 से अधिक नए केस प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। इसी तरह जिन 11 जिलों में 20 से अधिक केस रोजाना सामने आ रहे हैं, उनमें बड़वानी, विदिशा, देवास, सागर, उज्जैन, खण्डवा, छिन्दवाड़ा, सीहोर, शाजापुर, धार और राजगढ़ शामिल हैं।

इंदौर में कर्फ्यू अभी नहीं

इंदौर में शाम छह बजे से सुबह छह बजे तक का कर्फ्यू अभी नहीं लगेगा। लेक‍िन मास्क न लगाने वालों को गिरफ्तार किया जाएगा। शहर के ऐसे इलाके जहांं अधिक मरीज आ रहे हैं वहां माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनेंगे।

महाराष्ट्र से आने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग का कार्य जारी रखा जाए। प्रदेश में अधिक संक्रमण वाले नगरों में सीमित लॉकडाउन की व्यवस्था लागू रहेगी। बाजारों में भीड़ पर नियंत्रण से पॉजिटिव प्रकरण भी कम हो रहे हैं। इसलिए सीमित लॉकडाउन की व्यवस्था जिन स्थानों पर आवश्यक है,वहां जारी रखी जाएगी। पूरे प्रदेश में संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए शीघ्र ही अन्य आवश्यक निर्णय लिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *