ऋण दिलाने के नाम पर युवक से ठगी, ऑनलाइन इंजेक्शन के नाम पर चपत लगाई

ऋण दिलाने के नाम पर युवक से ठगी, ऑनलाइन इंजेक्शन के नाम पर चपत लगाई
Share on social media

– दोनों मामलों में पुलिस ने धोखाधड़ी दर्ज कर जांच शुरु की

mp03.in संवाददाता भोपाल 

ऐशबाग थाना क्षेत्र में  एक युवक को बजाज फाइनेंस कंपनी से लोन दिलाने के नाम पर एक व्यक्ति ने हजारों की ठगी कर ली। वहीं कोलार निवासी एक दवा विक्रेता से इंजेक्शन के नाम पर 67 हजार रुपए की ठगी की गई। जबकि दो अन्य मामलों में भी जालसाजों ने मोबाइल पर लिंक भेजकर चूना लगा दिया है।
ऐशबाग पुलिस के अनुसार इकरा मस्जिद निवासी आरिफ खान पिता मुन्ने खां (28) को एक सप्ताह पहले  एक व्यक्ति ने फोन किया और खुद का नाम शंकर सिंह भदौरिया बताया। जालसाज ने बजाज फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी बताते हुए फरियादी को झांसे में लिया ओर आसानी सेलोन मंजूर कराने का झांसा दिया। फरियादी को पैसे की जरूरत थी तो वह जालसाज के झांसे में आ गया। इसके बाद जालसाज ने प्रोसेसिंग शुल्क के नाम पर पहले ढाई हजार फिर किसी अन्य चार्ज के नाम पर साढ़े छह हजार फिर नौ हजार दो सौ रुपए एक बैंक खाते में जमा करा लिए। फरियादी से जब जालसाज ने 5200 रुपए और मांगे तो उसने देने से मना कर दिया। इसके बाद जालसाज ने कहा कि तुम पैसे नहीं जमा करोगे तो मु हारा सारा पैसा डूब जाएगा। इसके बाद फरियादी जब बजाज फाइनेंस कंपनी के कार्यालय जाकर पता किया तो इस तरह की कोई डीलिंग उनके कार्यालय या किसी कर्मचारी द्वारा की ही नहीं गई थी। पुलिस ने धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इजेक्शन के नाम पर 67 हजार की ठगी 

कोलार में रहने वाले अभिषेक सिंह पिता वीरपाल सिंह ने कुछ जरूरी इंजेंक्शन की उन्हें जरूरत थी। सोशल मीडिया के जरिए एक मैसेज देखा, जिसमें दिए गए नंबर पर उन्होंने संपर्क किया। जिससे संपर्क हुआ, उसने ऑनलाइन इंजेक्शन बहुत जल्द भेजने का झांसा दिया और फरियादी से 67 हजार रुपए से अधिक की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर करा ली। राशि ट्रांसफर होने के बाद जालसाज ने फोन रिसीव करना बंद कर दिया और दवाई भी नहीं भेजी। सइबर क्राइम पुलिस ने जीरो पर कायमी कर विवेचना के लिए मामले को कोलार थाना पुलिस को सौंप दिया है।

लिंक ओपन करते ही 26 हजार 776 रूपए कट गए 

बैरागढ़ थाना क्षेत्र के राजेंद्र नगर कॉलोनी में रहने वाले बृजेश कुशवाह पिता मोहन कुशवाह (35)के मोबाइल पर एक लिंक आई थी। उस लिंक पर क्लिक करने से उसने कटे हुए पैसे वापस आने थे, लेकिन जैसे ही फरियादी ने लिंक ओपन कर उसमें मांगी गई जानकारी फिल की तो उसके खाते से 26776 रुपए कट गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *