थाने के लाॅकअप में बंद युवक ने कंबल की रस्सी बनाकर फांसी लगाई !

थाने के लाॅकअप में बंद युवक ने कंबल की रस्सी बनाकर फांसी लगाई !
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

कमला नगर थाने की हवालात में बंद युवक ने शनिवार तड़के कंबल से फंदा बनाकर  फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह लॉकअप में लाश लटकी देख पुलिस के पैरों तले जमीन खीसक गई।  मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल भेज दिया है। मामले की न्यायिक जांच कराई जा रही है। प्रारंभिक तौर पर ड्यूटी पर मौजूद एक एसआई,नाईट एचसीएम,एक हवलदार व संतरी पहरे पर मौजूद आरक्षक की भुमिका की जांच की जा रही है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि लापरवाही के आरोप में इन चारों पर जल्द गाज गिर सकती है।

जानकारी के अनुसार शबरी नगर निवासी गोलू सारथी मजदूरी करता था,  शुक्रवार सुबह उसकी 31 वर्षीय भाभी ने छेडख़ानी मारपीट व जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद में शुक्रवार शाम को आरोपी गोलू को पुलिस ने हिरासत में लिया था। रात में उसे लॉकअप में ही खाना दिया गया। शनिवार तड़के गोलू ने लॉकअप में रखे सरकारी कंबल को किराने से फाड़ा, लॉकअप के गेट में स्थित कुंदे में उसे बांधकर घुमाया और बल देकर रस्सीनुमा कर दिया। इसके बाद इसी से फांसी लगा ली। तड़के साढ़े पांच बजे ड्यूटी पर मौजूद एचसीएम ने गोलू को मृत देखा। थाने के अन्य स्टॉफ को मामले की जानकारी दी। तत्काल उसे फंदे से उतारा गया। हालांकि उसकी मौत हो चुकी थी। वहीं पुलिस सूत्रों का कहना है कि अधिकारियों के सामने अपना पक्ष रखते हुए नाईट एचसीएम ने बताया कि वह तड़के सवा पांच बजे पेशाब करने के लिए गए थे, एसआई व प्रधान आरक्षक प्रभात गश्त पर थे। जबकि संतरी थाना परिसर में ही लॉकअप से दूर मौजूद था।
विधवा भाभी पर शादी का दबाव बना रहा था :

 कमला नगर थाना पुलिस के अनुसार 28 साल का गोलू कमला नगर में रहता था। मृतक युवक की भाभी विधवा है।  वह भाभी पर खुद के साथ शादी करने का दबाव बना रहा था.।उसके खिलाफ शुक्रवार दोपहर भाभी ने छेड़छाड़ की शिकायत की थी। महिला ने पुलिस को बताया कि आरोपी उसके साथ छेड़छाड़ करता है ।और उसे जान से मारने की धमकी देता है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ छेड़छाड़ और जान से मारने की धमकी देने समेत अन्य धाराओं में FIR दर्ज की.। बताया जाता है कि युवक के खिलाफ 2014 और 2021 में छेड़छाड़ का केस दर्ज किया गया था। एक माह पहले ही वह जेल से छूटकर आया था।

कोट्स       

मामले की न्यायिक जांच शुरु हो गई है। ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों द्वारा लापरवाही की जांच की जा रही है। जांच में आए तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई तय की जाएगी।

सचिन अतुलकर, एडिश्नल सीपी 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *