दोस्त ने ही रची थी नाबालिग से 40000 लूटने की साजिश

दोस्त ने ही रची थी नाबालिग से 40000 लूटने की साजिश
Share on social media

Mp03.in  संवाददाता भोपाल

रातीबड़ थाना क्षेत्र नाबालिग से चालिस हजार रुपए की लूट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। फरियादी के पास मौजूद रकम उसके बुआ के बेटे की थी। उक्त रकम को पीडि़त ट्रांसपोर्ट से उठाकर घर देने के लिए लाया था। पुलिस ने मामले में तीन लड़कों को गिर तार किया है। जिसमें शामिल एक युवक, नाबालिग का दोस्त है। इसी के इशारे पर दो युवकों ने चाकू की नोक पर वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस का कहना है कि तीनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। फिलहाल यह साफ नहीं हो सका है कि आरोपी बालिग हैं अथवा नाबालिग।
टीआई सुदेश तिवारी के मुताबिक ओवेज़ शाह पिता अबदुल रउफ शाह (15) इटारसी का रहने वाला है। उसकी बुआ अशोका गार्डन में रहती है। ओवेज़ ने पुलिस को बताया कि वह बुआ के घर रुका हुआ है। बुआ के घर के पास ही उसकी एक लड़के से उसकी दोस्ती है। गुरुवार को ओवेज़ की बुआ के बेटे ने उसे ट्रांसपोर्टशन के चालीस हजार रुपए दिए थे। उसने कहा था कि रुपए घर पर रख देना शाम को आकर लूंगा। ओवेज़ के पास चालीस हजार रुपए है यह बात उसके दोस्त को पता चल गई। वह कहने लगा कि रुपए बाद में घर में रख देना पहले कलियासोत घूमकर आते हैं। ओवेज़ उसकी बातों में आकर बाइक से कलियासोत घूमने के लिए निकला। इधर ओवेज़ का साथी अपने दो साथियों को मोबाइल पर ओवेज़ और उसकी लोकेशन बताता रहा। भदभदा बेरियर से पूर्व एकांत में पहुंचते ही बाइक से आए दोनों लुटेरों ने ओवेज़ की बाइक रोक ली। इसके बाद ओवेज़ के साथ मारपीट करते हुए चाकू की नोक पर उससे चालीस हजार रुपए छीन लिए गए। फरियादी के साथ मौजूद उसके साथी ने डायल-100 को घटना की जानकारी दी। इसके बाद मामला पुलिस थाने पहुंच गया। टीआई ने बताया कि शुरुआत से ही ओवेज़ के साथी की बातों में विरोधाभास झलक रहा था। उससे अकेले में पूछताछ करने पर पूरे मामले का खुलासा हो सका है।
सीएसपी ने भी की पूछताछ
मामले की जानकारी मिलते ही सीएसपी उमेश तिवारी रातीबढ़ थाने पहुंचे। वहां पहले फरियादी पक्ष से पूछताछ की। पूछताछ में संदेह होने पर पुलिस ने ओवेज़ और उसके दोस्त से अलग-अलग पूछताछ की। तब पीडि़त का साथी संदेह के घेरे में आ गया। पुलिस ने उसके साथी पर थोड़ी ही शक्ती दिखाई और उसने लूट की वारदात का षड्यंत्र रचना स्वीकार लिया। उसकी निशानदेही पर दोनों अन्य आरोपियों को भी दबोच लिया गया। लूट की रकम को भी बरामद कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *