मोबाइल पर केवाईसी कराने का झांसा देकर रिटायर्ड भील अफसर के खाते से जालसाज ने हड़पे 10 लाख 40 हजार

मोबाइल पर केवाईसी कराने का झांसा देकर रिटायर्ड भील अफसर के खाते से जालसाज ने हड़पे 10 लाख 40 हजार
Share on social media

Mp03.in  संवाददाता भोपाल

पिपलानी इलाके में रहने वाले बीएचईएल के एक रिटार्ड अधिकारी को दो दिन पहले जालसाज ने मोबाइल पर मैसेज सैंड किया। जिसमें लिखा गया था कि दिए गए नंबर पर तत्काल कॉल कर केवायसी अपडेट कराएं। फरियादी ने नंबर पर कॉल किया तो आरोपी ने स्वयं को स्टेट बैंक और इंडिया की मुंबई स्थित मेन ब्रांच का मैनेजर बताया। आरोपी ने कहा की पूछी गई जानकारी नहीं दी तो खातों को बंद कर दिया जाएगा। आरोपी के झांसे में आए वृद्ध ने फरियादी को आधार नंबर सहित खातों से जुड़ी तमाम जानकारी दे दी। कुछ देर में उनके मोबाइल पर एकाएक 28 मैसेज प्राप्त हुए। जिसमें दो अलग-अलग खातों से निकाली गई रकम की जानकारी थी। पीडि़त ने तत्काल बैंक में संपर्क कर खातों को बंद करा दिया। मामले की शिकायत क्राइम ब्रांच को की गई। जांच के बाद में बीती रात क्राइम ब्रांच थाने में प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। मोबाइल नंबर के आधार पर आरोपियों की तलाश की जा रही है।
पुलिस के अनुसार देवनाथ पाठक पिता नागेवश्वर पाठक (75)भेल के रिटायर्ड अधिकारी हैं और सी सेक्टर इंद्रपुरी मेें रहते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि एसबीआई तथा एक अन्य बैंक में उनके दो सेविंग अकाउंट हैं। शुक्रवार की दोपहर को उनके मोबाइल पर एक मैसेज आया था। जिसमें केवायसी अपडेट कराने अन्यथा अकाउंट को बंद करने की बात लिखी थी। फरियादी ने मैसेज में लिए नंबर पर कॉल कर संपर्क किया। आरोपी ने मुंबई स्थित एसबीआई की मैने ब्रांच का स्वयं को मैनेजर बताते हुए अमर श्रीवास्तव नाम बताया। जालसाज की बातों में आकर पीडि़त ने उसके द्वारा मांगी तमाम जानकारी दे दी। कुछ ही देर में उनके मोबाइल पर लगातार हजारों रुपए खातों से कटने के मैसेज आने लगे। वह कुछ समझ पाते इससे पहले ही 28 बार में 10.40 हजार रुपए निकाल लिए। पीडि़त ने बैंक में संपर्क कर खातों को बंद कराया और परिजनों के साथ थाना क्राइम ब्रांच में पहुंचकर मामले की शिकायत कर दी। शिकायत की जांच के बाद में बीती रात पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को मोबाइल नंबर के आधार पर पकडऩे का प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल जालसाज का नंबर बंद जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *