जालसाज दंपति ने वकील को लगाई 15 लाख की चपत

जालसाज दंपति ने वकील को लगाई 15 लाख की चपत
Share on social media

– आरोपियों ने अनुबंध के बाद बैंक से उसी प्लॉट पर लोन भी ले लिया
– आरोपी दंपति के खिलाफ पहले से स्थाई वारंट जारी
mp03.in संवाददाता भोपाल

जालसाज दंपत्ति ने जिला अदालत में पेशी के दौरान वकील से परिचय बढ़ाकर झांसे में लिया, जिसके बाद अपना एक प्लॉट बेचने के नाम पर 15 लाख रूपए ठग लिए। आरोपियों ने जिस प्लॉट का अनुबंध अधिवक्ता को बेचने के लिए किया था, वह प्लॉट पहले से बैंक ऑफ महाराष्ट्र में बंधक था। पुलिस ने आरोपी दंपत्ति के खिलाफ जालसाजी का मामला दर्ज कर लिया है।
एमपी नगर थाने के एएसआई संजय सिंह सिसौदिया ने बताया कि पंकज खरे भोपाज जिला न्यायालय में अधिवक्ता हैं। सोनागिरी में राजेंद्र गिरी का कुछ साल पहले ट्रांसपोर्ट का कारोबार था। फर्जीवाड़े के मामले में राजेंद्र सिंह भदौरिया के खिलाफ कोर्ट में मामले चल रहे थे। पेशी के दौरान राजेंद्र भदौरिया का 2016 में परिचय पंकज खरे से हुआ। राजेंद्र ने उन्हें बताया कि मोंट फोर्ट स्कूल के पास पत्नी छाया भदौरिया के नाम पर एक प्लॉट है। सौदा होने पर राजेंद्र भदौरिया ने पंकज खरे से प्लॉट के नाम पर 15 लाख रुपए लेकर  पत्नी छाया भदौरिया से प्लॉट बेचने का अनुबंध बनवाकर दे दिया। लेकिन रजिस्ट्री नहीं कराई। बाद में  आरोपी ने रजिस्ट्री कराने से मना कर दिया।रजिस्ट्री नहीं होने के बाद फरियादी अधिवक्ता ने पुलिस में शिकायत की। जांच में सामने आया कि जिस प्लॉट का अनुबंध 15 लाख में बेचने
का किया है, उक्त प्लॉट पहले से ही बैंक ऑफ महाराष्ट्र में बंधक है। इतना ही नहीं बेचने का अनुबंध करने के बाद आरोपी दंपति ने उक्त प्लॉट और एक अन्य फ्लैट को एक अन्य बैंक में बंधक रखकर 80 लाख रुपए का लोन ने लिया है। पुलिस ने धोखाधड़ी और अमानत में खयानत का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *