किराए पर मकान लेने का झांसा देकर जालसाज ने भेल के सेवानिवृत्त एजीएम को लगाया एक लाख ३० हजार का चूना

किराए पर मकान लेने का झांसा देकर जालसाज ने भेल के सेवानिवृत्त एजीएम को लगाया एक लाख ३० हजार का चूना
Share on social media

mp03.in  संवाददाता भोपाल 

जालसाज ने मकान किराये पर लेने के नाम पर भेल के रिटायर एजीएम के खाते से 1.30 लाख रुपए निकाल लिए
भोपाल। जालसाजों ने लोगों को ठगने के लिए नित नए तरीके अपनाते जा रहे हैं। भोपाल में प्रतिदिन आधा दर्जन के करीब ठगी के मामले दर्ज हो रहे हैं। पुलिस लगातार ठगों व जालसाजों से बचने के लिए एडवाइजरी भी जारी कर रही है, लेकिन लोग उनके झासे में आते ही जा रहे हैं। इस बार जालसाज ने भेल के एक एजीएम को एक लाख 30 हजार से अधिक का चूना लगा दिया है।
अयोध्या नगर पुलिस के अनुसार 69 वर्षीय मोहन देशमुख पुत्र स्व. दिवाकर गीत बंगले फेस-4 में परिवार के साथ रहते हैं। मोहन देशमुख भेल से सहायक महाप्रबंधक (एजीएम) के पद से सेवानिवृत्त हुए हैैं। उन्होंने कुछ दिन पहले मैजिक ब्रिक्स वेबसाइट पर अपना फ्लैट किराये पर देने के लिए विज्ञापन दिया था। विज्ञापन देखने के बाद उनके मोबाइर पर एक जालसाज ने फोन किया और खुद को निजी कंपनी में बड़े पद पर नौकरी करने का झांसा देकर उनका फ्लैट किराये पर लेने की बात की। किराया तय होने के बाद फरियादी को जालसाज ने कहा कि मैं विश्वास जताने के लिए आपके खाते में कुछ राशि भेजना चाहता हूं। इसके बाद जालसाज ने उनके खाते में 5 रुपए भेज दिए। इसके बाद जालसाज ने फर्जी आधारकार्ड, फर्जी वोटर कार्ड और फर्जी आईडी कार्ड फरियादी के वाट्सएप पर भेज दिया। फरियादी को जब विश्वास हो गया तो एडवांस किराया देने के लिए जालसाज ने फरियादी को मैसेज भेजकर फोन पे का क्यूआर कोड स्कैन करने को कहा। वृद्ध ने जैसे ही क्यूआर कोड स्कैन किया इसके बाद उनके खाते से लगातार तीन ट्रांजेक्शन हुए और एक लाख 33 हजार से अधिक की राशि कट गई। दो बार फोन पे के जरिए राशि निकाली गई, जबकि जालसाज ने एक बार नेट बैंकिंग के जरिए 50 हजार रुपए निकाले हैं। फरियादी से सायबर सेल में शिकायत की थी। जांच के बाद अयोध्या नगर पुलिस ने धोखाधड़ी का प्रकरण अज्ञात मोबाइल नंबर धारक के खिलाफ दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *