KBC के नाम पर हो रही जालसाजी, सायबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी!

KBC  के नाम पर हो रही जालसाजी, सायबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी!
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक राज्‍य सायबर योगेश चौधरी ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि वर्तमान में सायबर जालसाज़ों के द्वारा विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय नम्बरों से व्हाट्सएप मेसेज करके (जिनमें पाकिस्तान के नम्बर भी होते हैं) संपर्क किया जाता है और कहा जाता है कि आपका मोबाइल नम्बर KBC व रिलायंस जियो द्वारा संयुक्त रूप से संचालित एक लकी ड्रा में 25 लाख रुपये की लॉटरी जीता है। प्राप्त मैसेज में दिये गये मोबाइल नम्बर से संपर्क कर अपनी राशि प्राप्त करने के लिये प्रोसेस करें। इसके बाद धोखाधड़ी से आपसे बड़ी रकम ठग ली जाती है।

श्री चौधरी ने कहा कि आजकल प्रदेश में ऐसे सायबर अपराध देखने में आ रहे हैं जिनमें सायबर अपराधियों द्वारा विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय नम्बरों से व्हाट्सएप मैसेज करके (जिनमें पाकिस्तान (92) के नम्बर भी होते हैं) आपसे संपर्क किया जाता है और कहा जाता है कि आपका मोबाइल नम्बर KBC व रिलायंस जियो द्वारा संयुक्त रुप संचालित एक लकी ड्रा में 25 लाख रुपये की लॉटरी जीता है। मैसेज में दिये गये मोबाइल नम्बर से व्हाट्सएप कॉलिंग से संपर्क कर अपनी राशि प्राप्त करने के लिये प्रोसेस करें। दिये गये मोबाइल नम्बर पर व्हाट्सएप कॉलिंग से संपर्क करने पर यहां से प्रोसेसिंग फीस और जीएसटी के नाम से पैसा अलग-अलग बैंक खातों में ट्रांसफर करने के लिये कहा जाता है। यह प्रक्रिया लगभग कुछ हफ्तों व महिने भर जारी रहती है और कभी लॉटरी की राशि बढने (45 लाख या 75 लाख हो जाने का कहकर और अन्य बहाने बताकर आपसे और पैसा ट्रांसफर करने को कहा जाता है। जब आपको यह एहसास होता है कि कहीं आपके साथ कोई धोखाधड़ी तो नहीं हो रही और आप ट्रांसफर किये गये पैसों को ही वापस रिफंड करने को कहते हैं तब वह अपने नम्बर बंद कर लेते हैं। इस तरह आप इन जालसाजों द्वारा बड़ी राशि की धोखाधड़ी के शिकार हो जाते हैं।

केबीसी या अन्य संस्था नहीं निकालती लाटरी

 KBC या अन्य किसी भी संस्था की तरफ से सामान्यतः इस प्रकार की कोई लॉटरी नहीं निकाली जाती तथा एप्लाई किए बिना कोई लाटरी नहीं मिल सकती। अतः इस तरह के किसी भी कॉल, मैसेज या मेल पर प्राप्त प्रलोभनों पर विश्वास न करें। इस तरह के मैसेज या कॉल की भाषा व्यवहारिक रूप से व्यवसायिक) नहीं होती तथा स्पेलिंग व ग्रामर की गलतियां होती हैं, जिन्हें आप ध्यान से पढ़कर समझ सकते हैं। कोई भी कंपनी/संस्था आपसे पैसे ट्रांसफर के लिये कभी नहीं कहती है, और यदि आपसे पैसे ट्रांसफर के लिये कहती भी है तो उनका अकॉउट उस कंपनी या संस्था के नाम से होता तथा करंट अकाउंट होता है। अतः अकाउंट की पुष्टि जरूर करें। किसी भी प्रकार के प्राइज या लॉटरी की राशि के लिये उस राशि से ही सभी प्रकार के टैक्स काटकर जीती गयी राशि विजेता को दी जाती है। अतः स्वयं समझे कि किसी भी प्रकार के लॉटरी के लिये एडवांस टैक्स क्यों मांगा जा रहा है। इस तरह के अपराधी अधिकतर आपसे उक्त लॉटरी के संबंध में किसी से चर्चा न करने की बात कहते हैं, जो कि संदेहास्पद होता है। यदि आपके साथ ऐसा कोई अपराध हो तो उसकी शिकायत अपने नजदीकी पुलिस थाने में या www.cybercrime.gov.in या Toll Free नम्बर 155260 पर करें।

“सायबर फ्रॉड हेल्प लाइन”*
बढते हुए सायबर अपराधों से निपटने हेतु भोपाल पुलिस द्वारा सायबर फ्रॉड हेल्प लाईन की शुरूआत की जा रही है। जिसका उद्देश्य भोपाल के निवासियों को तुरंत सायबर फ्रॉड की सूचना देने की सुविधा प्रदान करना है।
हेल्पलाइन नंबर – 0755-2920664
व्हाट्सएप नंबर – 9479990636
हेल्पलाइन 24X7 कार्यरत रहेगी तथा शिकायत के दौरान कुछ जानकारी शिकायतकर्ता द्वारा फोन पर चाही जाएगी जिससे शिकायत पर त्वरित कार्यवाही की जा सके। शिकायतकर्ता अपना आवेदन dspcrimebho@mp.gov.in पर भेज सकते है अथवा व्हाट्सएप नंबर 9479990636 पर लिखित आवेदन की फोटो भेज सकते है।
लिखित आवेदन अन्य जानकारी के साथ सुविधानुसार सायबर क्राइम ब्रांच, मिंटो हॉल के सामने, न्यू पुलिस कंट्रोल रुम तृतीय तल, जहॉगीराबाद, भोपाल में दे सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *