पांच हजार का ईनामी तस्कर से पांच किलो गांजा बरामद

पांच हजार का ईनामी तस्कर से पांच किलो गांजा बरामद
Share on social media
• आरोपी खेत में काट रहा था फरारी 
• आरोपी पूर्व ही था क्राइम ब्रांच की निगाह में 
• ग्राहक बनकर क्राइम ब्रांच ने गांजे सहित गिरफ्तार
• आरोपी से 5.2 किलो गांजा जप्त
• आरोपी उडीसा से मांगवाता है गांजा
• आरोपी के साथियों को पूर्व में क्राइम ब्रांच द्वारा किया गया है गिरफ्तार

mp03.in संवाददाता भोपाल 

गांजे की डिलवरी करने वाले एक फरार तस्कर को डिलिंग का झांसा देकर क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार शाम गांधीनगर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। तस्कर पर पूर्व में 5  हजार रूपए का ईनाम घोषित थे। तस्कर के खिलाफ एनडीपीएस के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है।

क्राइम ब्रांच डीसीपी अमित कुमार के  अनुसार  मोमिनपुरा, सीहोर निवासी अब्दुल खालिद उर्फ गुड्डू पिता अब्दुल हबीब  अप क्र 25/22 धारा एनडीपीएस एक्ट में फरार चल रहा था। जिसकी गिरफ्तारी के लिए  5000 रु का ईनाम घोषित किया गया था । आरोपी  फरारी के दौरान भी गांजा सप्लाई का काम कर रहा है । जानकारी मिलने पर क्राइम ब्रांच के आरक्षक ने मोबाइल पर उससे ग्राहक बनकर  गांजे की डीलिंग की ।शुक्रवार शाम  अब्दुल खालिद उर्फ गुड्डू  5 किलो गांजा लेकर 50 हजार रूपए में सप्लाई देने गांधीनगर ब्रिज के नीचे पहुंचा। जहां घेराबंदी कर क्राइम ब्रांच ने उसे दबोच लिया।आरोपी के  बेग की तलाशी में गांजे के एक-एक किलाे के  5 पैकेट जब्त किए गए। मादक पदार्थ गांजा व मोटर साइकिल MP 04 QA 1644  को जप्त कर खालिद को गिरफ्तार कर NDPS ACT के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है । पुलिस आरोपी से जानकारी जुटा रही है कि वह भोपाल में कहां-कहां गांजा खपाता है।

उड़िसा से लाता है मादक पदार्थ 

पूछताछ मे आरोपी अब्दुल खालिद उर्फ गुड्डू  ने बताया गया कि वह पेशे से ड्रायवर है इस कारण कई बार उडीसा माल लेकर गया है।  इसी दौरान करीब 2 साल पहले उडीसा के गांजा सप्लाई करने वाले से संपर्क हो गया है और उन्ही से सस्ते दामों में गांजा मंगवाता है । खुद पकडे जाने के डर से अपने साथियों दीपक कालरा व आसिफ तथा वाजिद उर्फ मोटा को उडीसा भेजकर गांजा मंगवाता था । इनके आने जाने तक का संपूर्ण खर्च आरोपी द्वारा उठाया जाता था एवं गांजा लाने का भाडा अलग से दिया देता था ।  दीपक, आसिफ व वाजिद को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस लगातार उसके घर पर दबिश दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *