ट्विटर पर भोपाल और दिल्ली में एफआईआर दर्ज !

ट्विटर पर भोपाल और दिल्ली में एफआईआर दर्ज !
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 
मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा मंगलवार को निर्देश दिए जाने के मप्र पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ के मामले में ट्विटर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। वहीं, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने POCSO Act के तहत दिल्ली में ट्विटर के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। दोनों ही मामले कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी मनीष माहेश्वरी के खिलाफ दर्ज किए गए हैं।
मप्र सायबर सेल एसपी  गुरकरण सिंह ने बताया, ‘‘ट्विटर पर भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ के मामले में शिकायत मिलने के बाद ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक मनीष माहेश्वरी के खिलाफ भादंसं की धारा 505 (2) के तहत  साइबर प्रकोष्ठ में प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया है।  केसवानी ने बताया कि ‘‘एक षड़यंत्र के तहत ट्विटर ने भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ की और जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख को अलग देश दिखाया है। इस कृत्य ने हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। इसलिए मैंने ट्विटर इंडिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए साइबर अपराध प्रकोष्ठ में शिकायत दर्ज करायी गई है। एफआईआर से पहले मंगलवार को मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट किया था, ‘‘लंबे समय से देश के विरोध में लगातार कुछ न कुछ चल रहा है। कभी भारत माता के बारे में अनर्गल बोलना तो कभी ट्विटर पर देश का गलत नक्शा दिखाना। ये सब गंभीर मसले हैं। इन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता है। केंद्र और प्रदेश सरकार ने भी इसे गंभीरता से लिया है। गृहमंत्री ने बताया कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी को इस मामले की जांच कर कानूनी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

दिल्ली में पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज

दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) की शिकायत पर ट्विटर इंक और ट्विटर कम्युनिकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।
दिल्ली पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि ट्विटर पर बाल यौन शोषण और बाल अश्लील सामग्री की उपलब्धता के संबंध में एनसीपीसीआर से प्राप्त एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए साइबर अपराध इकाई द्वारा आईपीसी, आईटी अधिनियम और पॉक्सो अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है और आगे की जांच भी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *