इंजीनियर और शिक्षिका के इकलौते बेटे ने फांसी लगाकर जान दी

इंजीनियर और शिक्षिका के इकलौते बेटे ने फांसी लगाकर जान दी
Share on social media
– निजी कंपनी में वर्क फ्रॉम होम में था मृतक
mp03.in संवाददाता भोपाल
अशाेका गार्डन इलाके में एक इंजीनियर पिता और शिक्षिका मां के इकलौते बेटे ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।  बेटे की मौत के बाद से माता-पिता बदहवास है, उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सुसाइड नोट नहीं मिलने से आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।
अशोका गार्डन पुलिस के अनुसार वर्धमान ग्रीन सिटी निवासी कृष्णमूर्ति सोनी पिता प्रियदर्शन सोनी (21) अपने माता-पिता और बहन के साथ रहता था। उसके पिता बिजली कंपनी में जूनियर इंजीनियर हैं और माता सरकारी शिक्षिका हैं। कृष्णमूर्ति हैदराबाद स्थित एक निजी कंपनी में नौकरी करता था और कोरोना संक्रमण के चलते कई महीने से घर पर रहकर ही वर्क फ्रॉम होम कर रहा था। रविवार  सुबह ग्यारह बजे वह अपने कमरे में लेपटॉप पर काम करने गया था। करीब एक डेढ़ घंटे बाद जब बहन उसके कमरे में पहुंची तो वह वह फांसी पर लटका हुआ था। परिजनों ने उसे तुरंत फंदे से उताकर अस्पताल पहुंचाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया।
बेटे की मौत के बाद माता-पिता दो बदहवास 
बेअे की मौत के बाद माता-पिता दोनों ही बदहवास है। जिन्हें इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विवेचना अधिकारी संतोष सेन ने बताया कि बेटे की मौत के बाद उसके माता-पिता बेसुध हो गए थे, अस्पताल में हैं इसलिए उनके बयान दर्ज नहीं हो सके हैं। मृतक का मोबाइल लॉक है, इसलिए उसे जांच के लिए साइबर सेल को भेजा जा रहा है। मृतक हैदराबाद की जिस कंपनी में कार्य करता था, उस कंपनी के अधिकारियों से भी बात कर पता लगाया जाएगा कि किस कारण युवक ने खुदकुशी की है। वहीं हमीदिया अस्पताल परिसर में बने रैन बसेरे में अधेड़ महिला मृत मिली है, उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *