पीएचक्यू में डीजीपी ने किया 50 बच्चों की क्षमता वाले झूलाघर का शुभारंभ

पीएचक्यू में डीजीपी ने किया 50 बच्चों की क्षमता वाले झूलाघर का शुभारंभ
Share on social media

पु‍लिस मुख्यालय में कार्यरत अभिभावकों को मिलेगा सहयोग

mp03.in संवाददाता भोपाल 

 मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय प्रांगण में गुरूवार को  डीजीपी विवेक जौहरी ने इंद्रधनुष झूलाघर का शुभारंभ किया।  पचास शिशुओं की क्षमता वाले इस झूलाघर में 6 माह से लेकर 2 वर्ष तक की आयु के शिशुओं जिनके माता-पिता पुलिस मुख्‍यालय में कार्यरत हैं, का पंजीयन किया जाएगा।

इस अवसर पर डीजीपी ने झूलाघर का निरक्षण करते हुए कहा की रंग-बिरंगे चित्रों और खिलौनों से बच्चों का मन यहां लगा रहेगा और कार्यरत अभिभावक निश्चित होकर काम कर सकेंगे। झूलाघर को शिशुओं के अनुरूप बनाने के लिए विशेष ध्यान दिया गया है। झूलाघर में पालनों के आलावा फिसलपट्टी, झूले, फ्रूट्स एवं गुड मैनर्स के चार्ट बोर्ड्स और दीवारों पर बच्चों के लिए मन को लुभानेवाली चित्रकारी भी की गई है। झूलाघर में सर्दियों में बच्चों के खेलने के लिए एक छोटा आँगन भी है।       पुलिस कल्याण शाखा की पहल से इंद्रधनुष झूलाघर को महिला बाल विकास विभाग द्वारा राष्ट्रीय झूलाघर योजना अंतर्गत स्वीकृति मिली है और इसे सादी वूमेन्स वालेटरी सोशल सर्विस सोसाइटी द्वारा संचालित किया जाएगा। पुलिस मुख्यालय में कार्यरत कर्मियों के शिशुओं के लिए इंद्रधनुष झूलाघर एक सुखद पहल है जिससे मुख्यालय में कार्यरत अभिभावक अपने कार्य के साथ अपने शिशुओं की देखरेख के बारे में भी निश्चिंत रहेंगे। प्रदेश की सभी पुलिस इकाइयों को आवश्यकतानुसार झूलाघर खोलने के लिए पत्र भेजे गए हैं।|इस अवसर पर विशेष पुलिस महानिदेशक  कैलाश मकवाणा, मिलिंद कानस्कर, अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक विजय कटारिया,  प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव, डी श्रीनिवास राव, आदर्श कटियार, जी.पी.सिंह, जी जर्नादन,  जी अखेतो सेमा,  अनुराधा शंकर, सहायक पुलिस महानिरीक्षक  किरणलता केरकट्टा, ऋचा चौबे,  विकास पाठक सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *