फार्मेसी छात्र के परिजन नहीं आए, शव उत्तर प्रदेश भेजा गया

फार्मेसी छात्र के परिजन नहीं आए, शव उत्तर प्रदेश भेजा गया
Share on social media
mp03.in संवाददाता भोपाल
शनिवार शाम को बावडिय़ाकला रेलवे फाटक के पास रेल पटरी पर फोटो खिंचवाते वक्त ट्रेन की चपेट में आने से मृत फार्मेसी छात्र के शव को लेकर परिजन भोपाल नहीं आए। ऐसे में  शव लेकर उसके रिश्ते का भाई यूपी रवाना हो गया है।
शाहपुरा पुलिस के अनुसार आरिब खान पिता आफताब खान भोपाल के एक निजी अस्पताल में बी फार्मेसी की पढ़ाई करता था। डॉ. शारिक शहर की जानकी अस्पताल में नौकरी करते हैं। आरिब भी उन्हीं के साथ अस्पताल परिसर में बने स्टॉफ क्वार्टर में रहता था। आरिब डॉ. शरिक के रिश्ते का भाई है। शनिवार शाम को आरिबअपने दोस्त आकाश दहाड़े के साथ शनिवार शाम को बावडिय़ा कला रेलवे ट्रेक पर गया था। जहां दोनों एक दूसरे के फोटो शूट कर रहे थे। आकाश ने पुलिस को बताया कि आरिफ रेलवे ट्रेक पर बैठकर फोटो खिंचवा रहा था। पीछे से ट्रेन आ रही थी, आरिफ रनिंग ट्रेन के साथ करीब से फोटो खिंचवाना चाहता था। इसी बीच ट्रेन की र तार को नहीं भांप पाया और उसकी चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। ट्रेन की चपेट में आने से आरिब करीब 50 फीट से अधिक घिसटता चला गया था, जिससे उसकी मौत हो गई थी। पहले परिजनों के भोपाल आना था, परिजन उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के सहसबान गांव में रहते हैं।  पुलिस से परिजनों से बात की और डॉ. शारिक की मौजूदगी में पीएम कराने के बाद शव पैतृक गांव भिजवाने को कहा था। रविवार शाम को छात्र का शव उप्र के लिए रवाना कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *