पैसे ट्रांसफर कराकर रफूचक्कर होने वाले भगोडे को सायबर क्राइम ने दबोचा

पैसे ट्रांसफर कराकर रफूचक्कर होने वाले भगोडे को सायबर क्राइम ने दबोचा
Share on social media
 आरोपी  द्वारा एम.पी. ऑनलाईन/ कियोस्क संचालकों को बनाया जाता था निशाना ।
 कियोस्क सेंटर संचालकों से नगद पैसा देने का विश्वास देकर खाते में पैसा ट्रांसफर कराकर भाग जाता था ।
 जिस होटल में आरोपी निवास करता था उस होटल के खाते में पैसा ट्रांसफर कराकर बाकी पैसे होटल से नगद लेकर फरार हो जाता था ।
 पैसा ट्रांसफर कराकर ई-मेल के द्वारा प्रिंट निकलवाने हेतु मेल भेजा करता था ।
 एम.पी.ऑनलाईन संचालक जैसे ही प्रिंट निकालने में व्यस्त होता था, वैसे ही समय देखकर भाग जाना
 अभी तक भोपाल शहर मे 6 वारदात को दे चुका है अंजाम ।
 थाना पिपलानी मे भी थी शिकायत जिस पर सायबर क्राइम के सहयोग से हुई कायमी।

mp03.in संवाददाता भोपाल

पैसे ट्रांसफर कराकर करीब छह लोगों को ठगी का शिकार बना चुके आरोपी को सायबर क्राइम ने गिरफ्तार कर लिया है। जालसाज नगद पैसे देने का बहाना बनाकर  रफूचक्कर हो जाता था।
सायबर क्राइम के अनुसार करोंद निवासी रजत कुमार जैन पिता सनत कुमार जैन   ने शिकायत की थी कि उनकी शॉप से ऑनलाईन पैसे ट्रांसफर कराकर व ई-मेल के माध्यम से मेल भेजकर प्रिंट निकलवाने में उलझाकर 10000 रूपये की ठगी की  गई है। खाता एवं ई-मेल आई-डी के उपयोगकर्ताओं के विरुध्द अपराध क्रमांक 68/22 धारा 420 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया। वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशन में डीसीपी क्राइम  अमित कुमार, Add. डीसीपी क्राइम शैलेंद्र सिंह चौहान के मार्गदर्शन में सायबर क्राइम ब्रान्च टीम द्वारा नगद पैसा देने का विश्वास देकर एम.पी. ऑनलाईन के माध्यम से खाते में पैसा ट्रांसफर कराकर ठगी करने वाले राघौगढ़, गुना निवासी शुभम् महावर उम्र 29 साल को  गिरफ्तार कर लिया। जिसने करीब भोपाल में छह वारदातों को अंजाम देना कबूला।
वारदात का तरीका 
जांच में आया कि आरोपी सबसे पहले ऐसी कियोस्क तथा एम.पी.ऑनलाईन की दुकानों का चुनाव करता था जिस पर सीसीटीवी कैमरा न लगा हो तथा उस दुकान पर फोटोकॉपी होती हो । आरोपी संचालक को नगद पैसा देने का झाँसा देकर, संचालक के खाते से रकम अपने खाते में ट्रांसफर करा लेता था । फिर संचालक को ई-मेल पर अथवा फोटोकॉपी के लिये कुछ दस्तावेज देकर फोटोकॉपी में उलझा देता था । जैसे ही संचालक फोटोकॉपी करने में व्यस्त होता था, आरोपी फरार हो जाता था । आरोपी इस तरह के अपराध में माहिर है ।
*पुलिस कार्यवाही:-*
सायबर क्राईम जिला भोपाल की टीम द्वारा अपराध कायमी के पश्चात् त्वरित कार्यवाही कर तकनीकी एनालिसिस के आधार पर प्राप्त साक्ष्यों के माध्यम से भोपाल से आरोपी को गिरफ्तार कर 01  मोबाईल फोन, 04 सिमों को जप्त किया गया हैं । आरोपी द्वारा घटना में प्रयोग किये गये बैंक खातों के बारे में विवेचना जारी है ।
इनकी सराहनीय भूमिका
 उनि रमन शर्मा, आर. प्रशांत शर्मा, आर. शिवम् निलौसे, आर. सुरेन्द्र कुमार, आर. हरीश पटेल, आर. रूपेश पटेल, आर. उदित दंडोतिया, आर. रविन्द्र सिंह रघुवंशी, म.आर पूजा सिंह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *