क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़े चरस तस्करों के अंडरवर्ल्ड व बाॅलिवुड़ से जुड़ रहे तार !

क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़े चरस तस्करों के अंडरवर्ल्ड व बाॅलिवुड़ से जुड़ रहे तार !
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

क्राइम ब्रांच के हत्थे चढे़ देवर-भाई समेत मुंबई के चरस तस्करों से पूछताछ जारी है। उनकी संपत्ति की जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस सूत्रों की माने तो आरोपियों के अंडरवर्ल्ड से लेकर बॉलिवुड तक में तार जुडे़ होने की जानकारी पुलिस रही है। आरोपी महिला डोंगरी के कई बड़े माफियाओं  से जुड़ी है। सूत्रों का दावा है कि उसके मोबाइल फोन में बेंड्रा के कई हाईप्रोफाईल घरानों के मोबाइल नंबर मिले हैं। जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि आरोपी बॉलीवुड से जुड़े लोगों तक चरस खपाने का काम करते थे। आरोपियों के भोपाल में मौजूद ग्राहकों की भी पुलिस जानकारी जुटा रही है। भोपाल में तस्कर कई हुक्का लाउंज और फार्म हाउसों में होने वाली पार्टीज में चरस खपाया करते थे।
जानकारी के अनुसार क्राइम ब्रांच ने ने घेराबंदी कर मंगलवार को जिंसी पर आरोपियों के ऑटो को रोका। ऑटो सवार महिला और पुरुष के सामान की तलाशी ली गई। दोनों के पास से अलग-अलग पैकेट में रखा करीब 2.965 किलो ग्राम चरस जब्त किया गया। पूछताछ में आरोपियों की पहचान शाहिद पिता अब्दुल वाहिद 44 वर्ष निवासी डोंगरी मंबई और जुलेखा पति अब्दुल कलाम सिद्दीकी 48 वर्ष निवासी डोंगरी मुंबई के रूप में की गई। दोनों देवर और भाभी हैं।  दोनों अनपढ़ हैं और मूलत: उत्तर प्रदेश के कानपुर के निवासी हैं। दोनों ने पूछताछ में बताया कि नेपाल से कम दामों में चरस मंगवाकर मंबई और भोपाल में खपाने का काम करते हैं। महिला और पुरुष ने पूछताछ में बताया कि मॉडल ग्राउंड शाहजहांनाबाद में रहने वाला बब्लू उर्फ शाहिद अली पुत्र शौकत अली 40 वर्ष भोपाल में चरस खपाने का काम करता है। वह फुटकर चरस बेचा करता था। दिखावे के लिए लेदर के बैल्ट बेचा करता था। आरोपियों की निशानदेही पर बब्लू को गिर तार कर उसके घर से 265 ग्राम चरस जब्त की गई है। आरोपी वीर बहादुर गिरी पुत्र महंत गिरी 45 साल निवासी पर्सा मधेश प्रदेश नेपाल वहां से गांजे की खेंप लाकर भोपाल में दिया करता था। यहां से आरोपी चरस लेकर मुंबई के लिए रवाना हुआ करते थे। महिला और पुरुष मुंबई में चरस को फुटकर ग्राहकों को खपा दिया करते थे। वीर बहादुर गिरी के पास से करीब 6 किलो सात सौ ग्राम चरस जब्त किया गया है। चारों आरोपियों के पास से मिले कुल चरस की कीमत करीब पांच करोड़ रुपए है।
– इनका कहना है
आरोपियों की संपत्ति की जानकारी जुटाई जा रही है। आगे अवैध तरीके से अर्जित की संपत्ति को सीज करने की कार्रवाई की जाएगी। आरोपियों के हाई प्रोफाइल कनेक्शन भी खंगाले जा रहे हैं। भोपाल में कहां और किसकी मदद से माल खपाया जाता था, इस बात की भी पूछताछ आरोपियों से की जा रही है।
शैलेंद्र सिंह चौहान, एडिशनल डीसीपी

Leave a Reply

Your email address will not be published.