महिला बनकर ठेकेदार को पार्टनर बनाया, मुनाफा मांगने पर सैक्स रैकेट में फंसाने की धमकी देकर 58 लाख वसूले

महिला बनकर ठेकेदार को पार्टनर बनाया, मुनाफा मांगने पर सैक्स रैकेट में फंसाने की धमकी देकर 58 लाख वसूले
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

राजधनी में पीडब्ल्यूडी समेत दीगर विभागों के लिए ठेकेदारी करने वाले व्यक्ति को महिला बनकर जालसाज ने फोन कर बियर बॉर में पार्टनर बना लिया। जब पार्टनर बनें ठेकेदार ने मुनाफा मांगने के लिए फोन किया तो सेक्स स्केंडल में फंसाने की धमकी देकर 58 लाख रूपए वसूल लिए। फरियादी  डर के मारे शिकायत नहीं की, लेकिन हालही में झारखंड में  गिरोह के पकड़े जाने पर जब  खुलासा हुआ कि आरोपी पुरुष हैं, तब पीड़ित ने कोहेफिजा पुलिस में  धोखाधड़ी, अपराधिक षड्यंत्र रचने और धमकी देने का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कोहेफिजा पुलिस के अनुसार जैन नगर लालघाटी निवासी रतनलाल पुत्र रामस्वरूप (40) दीगर विभाग के सरकारी निर्माणाधीन ठेके लेते हैं। अक्टूबर 2018 में उनके पास महिला की आवाज में फोन आया, जिसने खुद को  दीप्ती सिंह बताते हुए एमपी नगर में बियर-बार खोलना बताया। जिसने बड़ा मुनाफा देते हुए पार्टनर बनने की पेशकश की। सहमति होने के बाद रतनलाल ने कथित दीप्ति सिंह द्वारा दिए गए अलग-अलग बैंक खातों में पांच हजार से लेकर 15 दिन में 10 लाख रुपए जमा कर दिए।करीब महीने भर बाद जब
फरियादी ने मुनाफे का हिसाब करने के लिए काल किया, तो जालसाज महिला ने सेक्स रैकेट में फंसाने की धमकी देते हुए डरा-धमकाकर मार्च 2019 तक करीब  58 लाख से अधिक की राशि खातों में जमा करा ली। फरियादी बदनामी के डर और जेल जाने से बचने के लिए पुलिस में शिकायत नहीं की थी। हालही में  ठगी करने वाला उक्त गिरोह  झारखंड में पकड़ा गया। झारखंड साइबर पुलिस ने जांच की तो रतनलाल के खाते से मोटी रकम जालसाजों के खाते में ट्रांसफर होना पाई गई।  झारखंड पुलिस ने इनसे संपर्क  किया, तब इन्होंने बताया कि मुझे महिला बनकर सेक्स रैकेट में फंसाने की धमकी देकर इतनी मोटी रकम ठगी गई है। स्थानीय पुलिस ने जालसाजों के बैंक खातों के ट्रांजेक्शन पर रोक लगवा दी है। साथ ही यह भी बताया कि जालसाज महिला नहीं पुरुष है। वह साफ्टवेयर के जरिए महिला की आवाज निकालकर बात कर रहा था। इसके बाद फरियादी ने शिकायत की है। पुलिस ने विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने पुलिस की एक टीम झारखंड रवाना होगी। जालसाज फिलहाल झारखंड जेल में बंद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.