फर्जी वीजा लेकर देश में घुस पैठ करने वाले 12 नाइजीरियन युवकों की भोपाल पुलिस को तलाश

फर्जी वीजा लेकर देश में घुस पैठ करने वाले 12 नाइजीरियन युवकों की भोपाल पुलिस को तलाश
Share on social media
 mp03.in संवाददाता भोपाल 
फर्जी वीजा के जरिए 2018 से भोपाल में रहने वाले 15 नाईजीरियन में से पुलिस को अब 12 की तलाश है। एक नाइजीरियन युवक को बुधवार को पुलिस ने देश छोड़कर भागने की फिराक में दिल्ली एयरपोर्ट से पकड़ा है, जबकि उसके दो साथी देश छोड़कर भागने में सफल हो गए। ऐसे में अब  12 नाइजीरियन युवक बचें हैं, जिनकी कोहेफिजा पुलिस को तलाश है। आरोपियों के खिलाफ कोहेफिजा थाने में धोखाधड़ी व फॉरेन एक्ट के तहत मामला दर्ज है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भोपाल पुलिस अन्य राज्यों की पुलिस से भी संपर्क में है।
क्या है मामला
 2018 में 15 नाईजीरियन युवकों ने फर्जी वीजा के आधार पर भोपाल आए और एक निजी कॉलेज में प्रवेश लिया था। इसके बाद उनके वीजा की जांच विदेश मंत्रालय कर रह था। जांच में सामने आया कि सभी आरोपी किसी दूसरे व्यक्तियों के वीजा नंबर का उपयोग कर अपने वीजा बना लिए थे। इसके बाद विदेश मंत्रालय ने पुलिस मुख्यालय स्थित विशेष शाखा पुलिस को सूचना भेजी थी।
फर्जी वीजा के आधार पर अनुमति 
फर्जी वीजा के आधार पर सभी नाईजीरियन युवकों ने जिला विशेष शाखा से भोपाल में रहने की अनुमलि ले चुके थे। छानबीन शुरू हुई तो सभी आरोपी छात्र फरार हो गए। इसके बाद कुछ माह पहले भोपाल के कोहेफिजा थाने में सभी के खिलाफ धोखाधड़ी और फॉरेन एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। आरोपी मामला दर्ज होने से पहले ही भोपाल से देश के अलग-अलग स्थानों में जा छिपे थे। लॉकडाउन के दौरान अंतर्राष्ट्रीय विमान सेवा बंद होने के कारण आरोपी देश से भाग नहीं सके, लेकिन दो नाईजीनियर पहले भाग चुके थे।
दिल्ली एयरपोर्ट की सूचना पर कार्रवाई 
बीते दिनों एक आरोपी दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा, वह नाईजीरिया जाना चाह रहा था। चूंकि भोपाल पुलिस ने सभी विमानतलों को लुक आउट नोटिस के जरिए सूचना भेज चुकी थी कि 15 युवक आरोपी है, इसलिए जैसे ही आरोपी युवक ओसेमुयमेव गैउस ओबसेगये एयरपोर्ट पहुंचा, वहां से भोपाल पुलिस को सूचना दे दी गई। विवेचन अधिकारी साहवाज खान ने बताया कि आरोपी को कल भोपाल जिला अदालत में पेश कर दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है। आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसके 12 साथी अभी भारत के अलग-अलग राज्यों में छिपे हुए हैं।
इनका कहना 
स्पेशल ब्रांच इस मामले की शिकायत की थी। ब्रांच ने पहले ही अपने स्तर पर पूरे मामले की जांच की जिसके बाद पुलिस ने 15 नाइजीरियन छात्रों पर धोखाधड़ी, पासपोर्ट एक्ट समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।आरोपी 15 नाइजीरियन छात्र 26 जून 2018 से 2019 में रेसीडेंस वीजा पर भोपाल आए थे। छात्रों ने यहां पर एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया था। अभी तक की जांच में सामने आया कि दो नाइजीरियन इंडिया में नहीं है, बाकी अभी तक देश में ही हैं। इनके बारे में अब पता लगाया जा रहा है।
नागेंद्र पटेरिया, सीएसपी शाहजहांनाबाद 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *