एसपी को हटाए जाने से खफा खरगौन जिले के 21 सामाजिक संगठनों और जनता ने मंगलवार को रखा आंशिक बंद !!

एसपी को हटाए जाने से खफा खरगौन जिले के 21 सामाजिक संगठनों और जनता ने मंगलवार को रखा आंशिक बंद !!
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

बिस्टान के खेरकुंडी के  35 वर्षीय बिसन पुत्र हाबू की जेल में मौत के बाद जांच में कथित लापरवाही के चलते 12 सितंबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश पर हटाए गए एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान की बहाली की मांग को लेकर मंगलवार को खरगौन बंद रखा गया। दरअसल, मुख्यमंत्री द्वारा एसपी को हटाए जाने के निर्णय शहरवासियों के साथ ही 21 सामाजिक संगठनों द्वारा विरोध किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार सोमवार को एसपी सिंह के समर्थन में सामाजिक संगठनों के साथ 21 समाजजनों और सकल हिंदू समाज द्वारा मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम सत्येंद्रसिंह को ज्ञापन सौंपा था। ज्ञापन के माध्यम से सभी समाजजनों ने कहा कि बिस्टान मामले में एसपी सिंह को हटाने का शासन का फैसला गलत है। शासन के इस फैसले से समाजजनों में आक्रोश है। उन्होंने इस फैसल पर प्रशासन और मुख्यमंत्री से दोबारा विचार किए जाने की मांग की।

संगठनों का कहना एसपी ने किया बेहतर काम
नगर संयुक्त मोर्चा सकल समाज संगठन के पदाधिकारियों ने बताया कि एसपी सिंह ने जिले में क्राइम कंट्रोल कर सट्टा, जुआ और अवैध शराब परिवहन पर लगाम लगाई थी। जिले में सांप्रदायिक सद्भाव की मिसाल पेश की। ऐसे योग्य अधिकारी का किसी एक मामले को लेकर स्थानांतरण करना उचित नहीं है। प्रशासन द्वारा यदि विपक्ष के दबाव में आकर यह फैसला लिया गया है तो यह अनुचित है।

21 सामाजिक संगठन हुए मुखर
बिस्टान मामले को लेकर राज्य शासन द्वारा किए गए फैसला का जिले के सामाजिक संगठनों में रौष व्याप्त है।
एसपी के समर्थन में ब्राह्मण समाज, राजपूत, बीसा नीमा महाजन समाज, सोनी समाज, रघुवंशी समाज, माली समाज, यादव समाज, पाटीदार समाज, मुस्लिम समाज, बोहरा समाज, विश्वकर्मा समाज, राठौड़ तेली समाज, कहार समाज,
कलाल समाज, सिख समाज, दांगी समाज, पालीवाल समाज, सेन समाज और जैन समाज समेत अन्य समाजिक संगठनों ने एसपी सिंह के स्थानांतरण के निर्णय का विरोध किया। इसके साथ ही समाजजनों ने और सामाजिक संगठनों ने आंदोलन की भी चेतावनी दी है।

आज खरगोन बंद का आह्वान

14 सितंबर को संयुक्त मोर्चा सकल समाज द्वारा खरगोन बंद का आह्वान किया था।जिसके लिए
लेकर संगठन के पदाधिकारियों को द्वारा शहर में मुनादी के माध्यम से व्यापारियों को सूचना दी गई। मंगलवार को एसपी की बहाली को लेकर शहर के व्यापारियों और दुकानदारों ने दोपहर 12 बजे तक अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। आदिवासी संगठन और जयस द्वारा घटना के विरोध में पुराने कलेक्टर कार्यालय गेट के सामने प्रदर्शन किया जा रहा है। आदिवासी संगठन द्वारा मृतक बिसन के हत्यारों को फांसी देने की मांग की जा रही है।

शैलेंद्र सिंह चौहान, एसपी खरगौन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *