विकलांग बेटी और जेवरात साथ ले जाने पर गुस्साए पति ने उतारा था पत्नी और उसके प्रेमी को मौत के घाट

विकलांग बेटी और जेवरात साथ ले जाने पर गुस्साए पति ने उतारा था पत्नी और उसके प्रेमी को मौत के घाट
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल 

अशोका गार्डन के सेमरा इलाके में सोमवार रात पत्नी और उसके दूसरे पति की हत्याएं करने वाला सुनील
अपनी पत्नी के धोखा देकर भागने और दूसरी शादी करने से नाराज नहीं था। बल्कि वह इस बात को लेकर उससे नाराज था कि वह उसकी बेटी और जेवरात-नगदी लेकर भागी थी। अगर वह ऐसा नहीं करती तो शायद हत्या करने की नोबत नहीं आती। यह खुलासा आरोपी ने पुलिस पूछताछ में हुए बयानों में किया। अब  पुलिस ने आरोपी के साथ घटना स्थल पर मौजूद उसके दो साथियों की भूमिकाओं की भी जांच शुरू कर दी है।
थाना प्रभारी आलोश श्रीवास्तव के अनुसार  सोमवार रात करीब आठ बजे कैलाश नगर सेमरा में राजेन्द्र मालवीय(25) और अरूणा उर्फ रचना(22) की आरोपी सुनील मालवीय(32) ने चाकू से गोद कर हत्या कर दी थी। आरोपी के साथ उसके दो साथी देवेन्द्र और राहुल भी थे। जिन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी सुनील मालवीय ने हत्या के बाद पुलिस पूछताछ में कुछ अहम खुलासे किये हैं। आरोपी ने पुलिस को बताया कि जिस दिन उसकी पत्नी रचना उसे छोड़कर छह साल की बेटी और घर में रखे जेवरात व नगदी लेकर भाग गई थी। उसने उसकी दिन रचना की हत्या करने की ठान ली थी। बस इंतजार था तो रचना के मिलने का। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसे इस बात का जरा भी दुख नहीं था कि उसकी पत्नी रचना उसे छोड़कर राजेन्द्र मालवीय के साथ रहने लगी थी। बल्कि उसे इस बात का गुस्सा था कि वह अपने साथ उसकी छह साल की बेटी को ले गई और उसकी महनत की कमाई के जेवरात व नगदी भी अपने साथ ले गई। अगर उसे राजेन्द्र के साथ जाना था तो अकेली चली जाती। मेरी बेटी और जेवरात-नगदी लेकर क्यों गई। अगर वह ऐसा नहीं करती तो शायद वह आज दो हत्या का गुनहगार नहीं होता। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह अपनी बेटी जो कि बिकलांग है, उससे बहुत प्यार करता है।
साथियों के भूमिका की होगी जांच-
आरोपी सुनील मालवीय अपनी भागी हुई पत्नी रचना और बेटी को तलाश करता हुआ एक माह पहले भोपाल पहुंच गया था। यहां वह कोलार इलाके में रहने लगा और मेहनत-मजदूरी करने लगा। इसी बीच उसे पत्नी रचना और बेटी के बारे में पता चला कि वह सेमरा के कैलाश नगर में राजेन्द्र मालवीय के साथ रह रहे हैं। मजदूरी के दौरान ही उसकी पहचान आरोपी देवेन्द्र और राहुल से पहचान हुई थी। हत्या की वारदात के वक्त दोनों घटना स्थल पर ही थे। पुलिस पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि सुनील ने उन्हें नहीं बताया था कि वह अपनी पत्नी और उसके दूसरे पति की हत्या करने जा रहा है। हालांकि पुलिस आरोपियों की भूमिका की जांच कर रही है। पुलिस आज मृतक रचना और राजेन्द्र के शवों का पीएम कराकर शव परिजनों को सौंप देगी। वहीं आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.