चरित्र संदेह पर गुस्साए पति ने फरसे से पत्नी के एक हाथ-पैर का पंजा काट दिया

चरित्र संदेह पर गुस्साए पति ने फरसे से पत्नी के एक हाथ-पैर का पंजा काट दिया
Share on social media

mp03.in संवाददाता भोपाल

चरित्र संदेह के चलते शराबी पति ने मंगलवार रात  पत्नी के एक हाथ व एक पांव का पंजा काट दिया था। पुलिस ने आरोपी पति के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के अनुसार मंगलवार रात करीब 11:30 बजे निशातपुरा स्थित पारस कॉलोनी निवासी प्रीतम सिंह सिसोदिया मूलत: होशंगाबाद का रहने वाला है। जोकि यहां अपनी संगीता और एक सात साल के बेटे के साथ रहता है। प्रीतम मेहनत-मजदूरी करता है, जबकि संगीता इंदौर की एक फैक्टरी में सुपरवाइजर है। वह 15-15 दिन में इंदौर से भोपाल आती है। संगीता घर आने पर वह अक्सर फोन पर बात करती थी। इस बात को लेकर पति एतराज करता था। बेटा पिता के पास ही रहता है। मंगलवार की रात प्रीतम शराब के नशे में धुत था। उसने पत्नी के चरित्र पर सवाल उठाए तो विवाद बढ़ गया। प्रीतम ने गुस्से में फरसा उठाया और पत्नी के बाएं पैर का पंजा और बाएं हाथ की हथेली पर ताबड़ तोड़ प्रहार कर दिए। जिससे उसके पैर व हाथ का पंजा कट कर शरीर से अलग होगया। हमले के बाद संगीता बदहवास सी बैठी रह गई। वारदात के बाद आरोपी प्रीतम भी घर से नहीं भागा। पुलिस जब पहुंचीं, तब प्रीतम कमरे में फरसा लिए खड़ा था। पुलिस ने आरोपी को मौके पर ही गिरफ्तार कर हथियार जब्त कर लिया।

छह डाक्टरों की टीम ने किया ऑपरेशन 

हमीदिया अस्ताल के 6 डाक्टरों की टीम ने रात करीब ढाई बजे घालय महिला का ऑपरेशन शुरु किया था। जिसमें आर्थोपेड और प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के लोग शामिल हैं। सुबह 11 बजे तक चले ऑपरेशन में महिला के हाथ के पंजे को जोड़ दिया गया है। दो दिन बाद साफ होगा की महिला के हाथ में कितना मूवमेंट हो रहा है। वहीं उसके पांव के पंजे का कुछ हिस्सा व उंगलियां अब सही नहीं हो सकेंगी। दो दिन बाद डाक्टर दूसरा ऑपरेशन कर उसके पांव में आर्टिफिशियल पंजा लगाएंगे। जिससे महिला दोबारा चल फिर सकेगी। फिलहाल महिला को ओटी से बाहर नहीं लाया गया गया है।

 

 

 

इनका कहना

महिला का आपरेशन रात करीब ढाई बजे हमीदिया अस्पताल में शुरु किया गया था। उसके हाथ के पंजे को डाक्टरों ने जोडऩे में कामयाबी हासिल की है। हालांकि अब उसका हाथ कितना काम कर सकेगा, यह बात दो तीन दिन बाद साफ हो सकेगी। वहीं उसके पांव का कटा हिस्सा नहीं जुड़ सकेगा। डाक्टर दो दिन बाद उसके पांव का दोबारा ऑपरेशन कर पांव में एक रॉड डालेंगे। जिसके बाद सरजरी के माध्यम से कटे हिस्से में आर्टिफिशियल पार्ट जोड़ा जाएगा। इससे महिला को चलने फिरने में काफी हद तक मदद मिलेगी। वहीं आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके खिलाफ हत्या के प्रयास और अंग भंग करने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

महेंद्र सिंह चौहान, टीआई निशातपुरा 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *