अड़ीबाज गैंग का पर्दाफाश, 3 आरोपी गिरफ्तार

अड़ीबाज गैंग का पर्दाफाश, 3 आरोपी गिरफ्तार
Share on social media
mp03.in संवाददाता भोपाल 
अशोका गार्डन पुलिस ने हफ्ते भर के अंदर अडीबाज गैंग का पर्दाफाश कर लिया है। पुलिस ने गिरोह के 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से अपराध में प्रयुक्त पिस्टल एवं कारतूस तथा छुरी जप्त, अडीबाजी कर वसूल किये गये रूपए भी बरामद कर लिए गए हैं।
अशोका गार्डन पुलिस के अनुसार  29 मार्च को  80 फिट रोड पर एमटैक के छात्र सरवर आजम को डरा धमकाकर दो अज्ञात व्यक्ति फरियादी की मोटर सायकल पर ही बिठाकर रेतघाट फिर खानूगाँव ले गए। जहां  बंधक बनाकर उसे जान से मारने की धमकी देकर फरियादी से करीब 50000 रूपए ऐंठ लिए। इनमें से 25000 अपने ही साथी अमन के पेटीएम अकाउण्ट में ट्रांसफर कराये और 25000  एटीएम से निकलवा लिए गए थे। फरियादी इतना डर गया था कि पैसे देने के बावजूद उसने किसी से कोई चर्चा नही की । दो दिन बाद उसने अपने दोस्तो को बताया फिर थाना अशोका गार्डन पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई, फरियादी की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 218/22 धारा 386,342,34 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
विवेचना के दौरान अज्ञात आरोपियो तक पहुंचने हेतु वैज्ञानिक पद्धति से विवेचना कर आरोपी राजा उर्फ अरबाज नि. नवाब कालोनी थाना अशोका गार्डन भोपाल को पकड़ा। जिसके बाद अपराध में प्रयुक्त एक अवैध देशी पिस्टल एवं एक कारतूस तथा 4000/- रूपये नगद एवं एक मोबाईल फोन जप्त किया गया ।  राजा की निशानदेही पर उसके साथी अमन खान नि. कबीटपुरा थाना टीला जमालपुरा भोपाल को गिरफ्तार कर लिया गया। अमन खान के पे-टीएम एकाउण्ट पर ही आरोपियों द्वारा फरियादी से अड़ी डालकर पैसे ट्रांसफर कराये गये थे । जिसने अपने एकाउण्ट से पैसे निकालकर सभी अपराधियों द्वारा आपस में बांट लिये गये थे । अमन खान से मोबाईल फोन और 2500/- रूपये जप्त किये गये । उनके अन्य साथी आदिल बच्चा को भी साजिदा नगर करबला रोड़ से पकड़ा गया, उसके कब्जे से भी एक छुरी एवं 3500/- रूपये तथा मोबाईल फोन जप्त किया गया । आरोपियों के अन्य साथियों की तलाश हेतु भी पुलिस पार्टी भेजी गई है, जिन्हे शीघ्र गिरफ्तार किया जावेगा ।
एडमिशन न होने पर लिए थे पैसे 
सरवर आजम बिहार का रहने वाला है तथा वर्तमान में अशोका गार्डन क्षेत्र में रहता है । उसने बिहार के ही किसी लड़के का भोपाल में एडमिशन कराने के लिये करीब 50,000/- रूपये लिये थे जो एडमिशन न होने से वापस नहीं किये थे ।  परेशान होकर बिहारी युवक द्वारा पैसे वापस कराने समीर को बोला। जिसने अपने साथी अन्य अपराधियों से चर्चा की राजा और नदीम को काम सौंपा। जोकि फरियादी सरवरे आजम को जानते थे इसलिये इन्होने आपस में योजना बनाकर सरवरे आजम का अपहरण कर रेतघाट और खानूगांव ले जाकर दो घंटे तक बंधक बनाकर चाकू छुरी दिखाकर जान से मारने की धमकी देकर तथा फरियादी को आतंकित करके उससे 50,000/- रूपये वसूल कर, धमकी देकर छोड़ दिया । पकड़े गये सभी अपराधी विभिन्न थाना क्षेत्रो के रिकार्ड शुदा बदमाश है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.